Now Read and Share Your Own Story in Odia! 90% Odia Sex Story Site

Archives

कुंवारी कन्या, नंगा बदन, पाठकों के पत्र
मेरा रिश्ता दो महीने पहले ही कैनेडा में रहने वाले युवक से हुआ है।
सगाई की रस्म होने के बाद से हमारी कोई मुलाकात नहीं हुई लेकिन फोन और इन्टरनेट पर काफी बातचीत होती रहती है।

पिछले कुछ समय से मुझे अपने मंगेतर पर शक सा होने लगा है।
एक बार मैंने उन्हें फोन किया तो किसी लड़की ने फोन उठाया।
मेरे पूछने पर उन्होंने कहा- यह मेड है.
लेकिन थोड़ी देर बाद हम वीडियो कॉल पर आये तो मैंने देखा कि वो ऑफिस की यूनीफॉर्म में है।
मेरे होने वाले पति इसी

ମୁଁ ମୋ ନାଁ ଏଠାରେ କହିବା କୁ ଚାହୁନି । ମୁ ଗୋଟେ Tution Master, 8 କ୍ଲାସ ରୁ 10 କ୍ଲାସ୍ ପର୍ଯଂତ ପିଲଂକୁ ପଢାଏ ।  ସଂଜୁ ବୋଲି ଗୋଟେ ଝିଅ ମୋ  କୁ ଆସେ । ଦେଖିବାକୁ ଭାରି ସୁଂଦର, ଗୋଲାପି ଓଠ ତାର, ତୋଫା ଗୋରା, 32 ସାଇଜ୍ ର ଦୁଧ ତାହାର । ତାକୁ ପଢେଇଲା ବେଳେ ତା ଛାତି ଉପରୁ ଦୁଧର ଫାଂକ ଦେଖି ମୋ ବାଣ୍ଡ ଟିଂଗାଏ । ସେ ମୋତେ ଗେହ୍ଲେଇ ହୋଇ ପ୍ରସ୍ନ ପଚାରେ । ମୋ ସହିତ ନିଜର ଭଳି କଥା ହୁଏ । ବେଳେ ବେଳେ ଆଗରେ ଆସି କ୍ଲାସ୍ ରେ ବସିଥାଏ, ମୋ ସହିତ ଇଆଡୂ ସିଆଡୂ ଗପ କରେ । ମୋତେ ତା ସହିତ ଗପ କରିବାକୁ ମଜା ଲାଗେ । ମୁଁ ତା ଦୁଧ କୁ ଦେଖିବାକୁ ଭାରି ଇଂଟ୍ରେସ୍ଟ୍ ।…
अन्तर्वासना के सभी पाठक और पाठिकाओं को चूतनिवास का नमस्कार!
जो कहानी मैं आपको बताने जा रहा हूँ वह मेरी नहीं है बल्कि एक पाठिका प्रियंका सिंह की आपबीती है, शब्द उनके हैं जबकि मैंने केवल उन्हें हिन्दी में रूपान्तरित किया है।
प्रियंका की ज़ुबानी
मित्रो, मेरा नाम प्रियंका है, मैं दिल्ली में रहती हूँ और पिछले वर्ष का मेरा एक निजी अनुभव पढ़ने वालों को बताना चाहती हूँ।
मैं और मेरी सहेली तूलिका अक्सर शाम को अपने बॉय फ्रेंड्स के साथ मौज मस्ती करने उनके फ्लॅट्स पर जाया करते थे लेकिन किसी कारणवश मेरा मेरे बॉय फ्रेंड के साथ …
हैलो दोस्तो, मेरा नाम प्रेम मिश्रा है। मैं कानपुर का रहने वाला हूँ। मैं यहाँ पढ़ाई करता हूँ। मुझे पैसे कमाने का बहुत नशा है। इसलिए मैं कॉल-ब्वॉय का काम भी करता हूँ। मेरी उम्र 25 है और देखने में भी अच्छा हूँ। अब आप सबको और बोर ना करते हुऐ मैं सीधे कहानी पर आता हूँ।
ये तब की बात है जब मैं 22 साल का था तो मेरे फेसबुक पर एक फ्रेंड-रिक्वेस्ट आई, वो मैंने ऐड कर ली। फिर एक दिन उसका मैसेज आया कि वो मुझसे बात करना चाहती है। तो मैंने उसे अपना ईमेल बता दिया। …

ମୁଁ ଝିଅଟେ ମେଡ୍ ଇନ୍ ଓଡ଼ିଶା 
ମୁଁ ଖୋଲିବି ତୋ ପାଇଁ ବ୍ରା
ମୁଁ କରିବି ଉ…. ଉ… ଆଆ
ଖାଇବାକୁ ଦେବି ବିଆ
ପିନ୍ଧିବାକୁ ଦେବି ଯୋସ୍ କଣ୍ଡମ
ରାତି ଯାକ ଦେବୁ ଗିହା
ମୁଁ ଝିଅଟେ ମେଡ୍ ଇନ୍ ଓଡ଼ିଶା…………… (୧)
ଯେବେ ତୁ ଅସିବୁ ପିଂଧିକି ଚଡୀ
ଓହ୍ଲେଇ ଦେବି ମୁଁ ଦେହରୁ ଶାଢୀ
ଦୁଧ କୁ ଯେବେ ତୁ ଦବୁ ରଗଡୀ
ମୁଁ ଧରିଥିବି ତୋତେ ଜାବୁଡୀ
ଗେହିବୁ ଯେବେ ତୁ ବିଆ କୁ ମାଡି
ଗିହା ଖାଉଥିବି ବନି ମୁଁ ଘୋଡି  
ମୁଁ କରିବିନି କେବେ ଯେ ମନା
ମୋ ଦେହ ରେ ନଥିବ ଟିକିଏ କନା
କି ମଜା ଲାଗିବ ତୋ ଦେହ ର ଘସା
ମୋ ବିଆ ପାଣି ରେ ଓଦା ପାରୁସା
मैं तो बस उस कुंवारी चूत को चोदने की सोचने लगा।
मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था।
मैं भूल गया कि श्रेया मेरी भाँजी है और वो भी मुझसे 7-8 साल छोटी है।
श्रेया जैसी मस्त लड़की की कुंवारी चूत को चोदने के ख्याल मात्र से ही मेरा रोम-रोम रोमान्चित होने लगा था।
रात में मम्मी और दीदी एक कमरे में मैं और जीजा जी एक कमरे में सो रहे थे, पर मेरी आँखों में नीद कहाँ थी मैं तो सबके सोने का इन्तजार कर रहा था।
थोड़ी ही देर में जीजा जी की नाक बजने लगी, मतलब वो सो …
चुदाई तो मैं पहले भी कई लड़कियों की कर चुका हूँ पर दोस्तों कुंवारी चूत को चोदने का मजा कुछ और होता है।
जब मैंने अपनी भाँजी श्रेया की कुंवारी चूत को चोदा तो पिछली सारी चुदाई भूल गया।
मुझसे बड़ी मेरी चार बहनें हैं।
श्रेया मेरी सबसे बड़ी दीदी की लड़की है।
वो मुझे 7-8 साल छोटी है।
जब मैंने उसे चोदा था तब उसकी उम्र 18 साल से ज्यादा नहीं रही होगी।
पर इस उम्र में ही वो बड़ी-बड़ी लड़कियों को मात देने लगी थी।
गजब की खूबसूरती पाई थी।
उसके सीने पर उसकी चूचियाँ बड़े-बड़े नागपुरी सन्तरों …
प्रेषक : नामालूम
सम्पादक : जूजा जी
हैलो दोस्तो.. जैसे ही मैं घर में दाखिल हुआ तो घर पर कोई नज़र नहीं आया…काफी खामोशी थी।
मुझे अज़ीब सा महसूस हुआ…
फिर मुझे रसोई से कुछ आवाज़ आई।
जब मैं रसोई में घुसा.. तो वहाँ मेरी छोटी सौतेली बहन खड़ी होकर खाना बना रही थी।
उन दिनों गर्मियों के दिन थे और उसके कपड़े पसीने से गीले हो गए थे… जो कि उसके मादक जिस्म के साथ चिपके हुए थे।
मैं पीछे से उसके पास जाकर खड़ा हो गया और उसको पीछे से अपनी बाँहों में ले लिया।
मेरा लंड उसके …
ମୁଁ ମୋ ବାପା ବୋଉଙ୍କର ଏକ ମାତ୍ର ସନ୍ତନ । ସେଥିପାଇଁ ବାପା ବୋଉ ମୋତେ ହଷ୍ଟେଲରେ ରହି ପାଠ ପଢ଼ିବା ପାଇଁ ଛାଡ଼ୁ ନ ଥିଲେ । ମୁଁ ଘରୁ ଯିବା ଆସିବା କରି କଲେଜରେ ପଢ଼ୁଥଲି । ବାପା ସବୁ ସମୟରେ ତାଙ୍କ ବିଜନେସ୍ କାମରେ ବ୍ୟସ୍ତ ରହୁଥିଲେ । ସେ ବୋଉ ପାଇଁ ସମୟ ଦେଇ ପାରୁ ନ ଥିଲେ । ମୁଁ ଅଧିକ ସମୟ ଘରେ ବୋଉ ପାଖରେ ରହୁଥିଲି । ସେଥିପାଇଁ ବୋଉ ସହିତ ମୁଁ ବେଶୀ ଫ୍ରି ହୋଇ ପାରିଥିଲି। ବୋଉ ଅନେକ ସମୟରେ ମନ ଦୁଃଖରେ ରହିବା ମୁଁ ଲକ୍ଷ୍ୟ କରୁଥିଲି । କ’ଣ ପାଇଁ ସେ ମନ ଦୁଃଖରେ ରହୁଛି ବୋଲି ଯେତେ ପଚାରିଲେ ବି ବୋଉ କିଛି କହୁ ନ ଥିଲା ।
ମୋ ବୋଉ ବୟସ ୩୮ ବର୍ଷ । ବୋଉ ଦେଖିବା ପାଇଁ ଗୋରୀ ନ
नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अनिल वोहरा है। मैं 24 वर्ष का लड़का हूँ। मैं दिल्ली में पी. जी. में रहता हूँ।
वैसे तो मैं पंजाब से हूँ, मेरा कद 6 फुट है और मैं दिखने में बहुत ही स्मार्ट हूँ। मेरा लंड 8″ का है।
यह कहानी दो महीने पहले की ही है।
मैं अपने पी. जी. के बारे में बता दूँ, मेरा पी. जी. दिल्ली के जनकपुरी में है।
पी. जी. कोने वाले घर में है, जो मकान मेरे सामने दूसरी ओर है उसमें लड़कियों का पी. जी. है।
उस पी. जी. की लड़कियाँ इतनी बेशरम थी कि कभी …