Now registration is open for all

Archives

लेखक : मलाज़
हाय दोस्तो, कैसे हो ! मरा नाम मलाज है। मैं आपको एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ।
यह बात उस समय की है जब मैं करीब 10-12 साल का था मैं अक्सर अपने चाचाजान के साथ ही रहता था। चाचा मुझे अपने साथ ही सुलाते थे। फिर अम्मी मुझे देर रात चाचा के पास से लेकर अपने पास सुलाती थी।
मैं अक्सर महसूस करता था कि जब अम्मी मुझे लेने आती थी तो कभी कभार मैं जाग जाता था तो लगता था कि चारपाई हिल रही है लेकिन मेरी समझ में कुछ भी नहीं आता था …
लेखक : अंशुल कुमार
मैं अंशुल 21 साल का हूँ, मेरठ में रहता हूँ। मैं अन्तर्वासना पर काफी समय से कहानी पढ़ रहा हूँ इसलिए सोचा कि इस बार अपनी भी कोई कहानी भेजूँ ! यह बिल्कुल सच्ची कहानी है।
मैं आपको अपनी भाभी यानि अपने सामान के बारे बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने उनको चोद कर मजे लूटे हैं। मेरी भाभी का नाम स्नेहा है, उनकी उम्र अब लगभग 29 होगी। वो मेरे पड़ोस में अलग घर में रहती हैं।
हाँ तो अब मैं आपको ज्यादा नहीं बोर करूँगा, कहानी की शुरुआत इस तरह होती है कि
प्रेषक : अमरीश पुरी
प्यारे दोस्तो, नमस्कार। मेरा नाम अमरीश पुरी (बदला हुआ) है। अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है। आशा करता हूँ कि आप लोगों को जरूर पसंद आएगी। किसी प्रकार की गलती या त्रुटि हो तो क्षमा प्रार्थी हूँ।
यह कहानी दो वर्ष पहले की है। जब मेरे भैया की शादी पटना शहर में ही तय हो गई थी। मैं उस समय बी.कॉम. फर्स्ट-ईयर में पढ़ता था। भैया की ससुराल मेरे कोचिंग के रास्ते में ही पड़ती थी।
एक दिन की बात है जब मैं कोचिंग से आ रहा था। तो रास्ते में मुझे मेरी होने वाली
मैं गोपाल गया, बिहार से हूँ।
मैं अन्तर्वासना काफी दिनों से पढ़ता आया हूँ लेकिन मैंने कभी कहानियाँ नहीं लिखीं, पर मैं आज आपके सामने एक सच्ची कहानी लिख रहा हूँ।
पहले मैं अपने बारे में बताने जा रहा हूँ, मेरा रंग साँवला है, कद 5’2’’ और मैं एक पैर से विकलांग हूँ, पर लण्ड 6 इन्च लम्बा 2 इन्च मोटा है और मजबूत है, उसमें तनाव भी अधिक है, मैं इसलिये यह लिख रहा हूँ कि मैं पैर से विकलांग हूँ, लण्ड से नहीं..!
बात तब की है जब मैं पश्चिम बंगाल से मैट्रिक करने के बाद अपने गाँव …
मेरा नाम रंजन है, मैं पटना से हूँ, एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ। मैं यहाँ अपने चचेरे भाई के साथ बोरिंग रोड साइड में रहता हूँ। दोस्तो, मैं यहाँ कोई उत्तेजक कहानी या मनगढ़ंत कहानी नहीं लिख रहा हूँ। जो यकीन नहीं करना चाहे कोई बात नहीं।
मेरे भैया का नाम राकेश है, भाभी का नाम मीनू है।
हम तीनों यहाँ इकट्ठे बड़े आराम से रहते हैं। पटना में हमने एक बड़ा तीन बेडरूम वाला फ्लैट ले रखा है।
भैया का मार्केटिंग का जॉब था और उनका अक्सर बाहर आना-जाना लगा रहता था।
बात 2007 की है, भैया …
अभिनव त्रिपाठी
हाय, यह कहानी बिल्कुल सच्ची है और सारी कहानी की घटना जयपुर पिंक सिटी में हुई है।मेरा नाम अभय है (बदला हुआ) मैं 27 साल का हूँ, 5 फुट 7 इंच लम्बा हूँ। मेरा लंड 7 इंच लम्बा है।
मेरे बड़े भाई, विनोद की शादी हुए एक साल हुआ है। पिछले 6 महीने से व्यापार में बहुत तेज़ी आने से विनोद भैया रात को 12 बजे तक काम करते हैं। कई बार मैं भैया को भाभी को छुप कर चोदते हुए देख चुका था।
मेरी भाभी सुनीता, 5 फुट 3 इंच लम्बी हैं, वो भी 25 साल की …
मेरा नाम सुनील कुमार है। आज मैं आपको अपने जीवन की एक ऐसी घटना बताने जा रहा हूँ जिसके बारे में सोचकर मैं आज भी मस्ती और उन्माद से भर जाता हूँ और पूरी उम्मीद करता हूँ कि वो मस्ती आप तक भी पहुँचा सकूँ।
मैं उत्तर प्रदेश के मेरठ ज़िले का रहने वाला हूँ। मेरे परिवार में काफ़ी सारे लोग रहते हैं, मेरे चाचा के बड़े लड़के की पत्नी जिसका नाम कमलेश है, वो मुझे शुरू से ही बहुत ज़्यादा हॉट लगती थी, जब मैं 18 साल का था तभी से मेरा दिल उन पर आया हुआ था।
एक …
राज फरीदाबादी
मेरा नाम राज है और मैं फरीदाबाद दिल्ली का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 24 साल थी और लण्ड 7 इंच का है और मेरी पत्नी मेरे साथ बहुत खुश है।
मेरी भाभी जिनकी उम्र 30 साल की है, वो काफ़ी सेक्सी हैं। उनका नाम सपना है, वो इतनी ख़ूबसूरत हैं कि जो भी एक बार उन्हें देख ले तो बस उनका दीवाना हो जाए। उनकी 36-26-36 के पैमाने वाली देह-यष्टि बहुत ही कामुक है।
अब मैं उस वाकिये पर आता हूँ।
मेरी उस समय शादी नहीं हुई थी, मेरी भैया की नई-नई शादी हुई थी। सपना भाभी …
मैं उन दिनों अपने चाचा के यहां आई हुई थी। मैं एम ए की छात्रा थी। चाचा बिजनेस के सिलसिले में कुछ दिनों के लिये दिल्ली गये हुए थे। चाची घर पर ट्यूशन पढाती थी। चाची का नाम सुमन था। उनकी उम्र 35 वर्ष की थी। उसके पास कोलेज दो के छात्र पढने आते थे। रवि और सोनू नाम था उनका। दोनो ही 20 – 21 वर्ष के थे। मुझे पहले दिन से ही वो हाय हेल्लो करने लगे थे। उन दोनों से मेरी जल्दी ही दोस्ती हो गयी थी। ऊपर का कमरा खाली था सो सुमन उन्हे वहीं पढाया
hello dear readers yeh meri pehli story hai main umeed karta ho ki app logo ko yeh pasand aayegi.

baat un dino ki hai jab mein 19 yrs ka hua tha to thabhi meri job lag gayi thi. maine office jana suru kiya tha mere ek staff ne mujhe boss ke bare mein bataya aur yeh bhi bataya ki boss ka home pass me hi hai aur wo office time me apne ghar ka kam bhi karwate hai. ek din boss ne apne kisi kam se mujhe apne ghar bheja. to ghar par boss ki sister ne darwaja khola uski