Bhauja will be Odia only. Every bhauja user can publish their story and research even book on bhauja.com in odia. Please support this by sending email to sunita@bhauja.com.

Devar Bhabhi

मेरी चुदकड़ भाभी की खूब चुदाई – Meri Chudakad Bhabhi Ki Khub Chudai







BHAUJA.COM पे आप सभी को स्वागत करते हुए, मैं सुनीता भाभी मेरे प्यारे नन्हे मुंहे देवर और देवरानी आप सभी की लण्ड छूट की जलन को और तेज करने के लिए आजकी ये कहानी | उम्मीद हे आप सभी की जॉनी से पानी निकल आएगा | भाभी की चुदाई की मजा लीजिये और सोचिये अपनी भाभी की चुत मरने में कितना मजा हे |

हेलो दोस्तों, में राज में राँची में रहता हूँ. और उम्र 25 साल का हूँ, और अपने फ्लेट में अकेला ही रहता हूँ, अभी मेरी शादी नही हुई है, में एक जवान और स्मार्ट लड़का हूँ. कुछ 6 महीने पहले की बात है, नॉर्मली में रोज़ सुबह 9:30 बजे घर से निकल जाता था और फिर शाम को 07:00 बजे घर आता हूँ. मेरे सामने के फ्लेट में मिस्टर.

शर्मा रहते है. वो वकील है. उनकी एक मस्त सी पत्नी है अरुणा , जो की उनकी दूसरी पत्नी है शर्मा जी की उम्र कोई 40 साल होगी और भाभी जी की उम्र कोई 25 साल के आस पास होगी, वो बड़ी ही प्यारी सी सेक्सी है, और कॉलोनी के ही एक स्कूल में टीचर है. वो सुबह 8:00 बजे स्कूल जाती है और 1:00 बजे घर आ जाती है. जब वो सुबह स्कूल जाती है तो रोज़ में उनको देखता हूँ, और वो एक बार मुझे देख कर हल्की सी मुस्कान ज़रूर देती है, पिछले एक साल से ऐसा ही चल रहा था.

एक दिन जब वो सुबह स्कूल जा रही थी तो में अपने गेट के पास खड़ा था और वो अपने गेट पर लॉक लगा रही थी तभी मेंरी टावल खुल गयी और मैं टावल के अंदर कुछ नही पहने हुये था, वो मुझे देख कर हल्का सा मुस्काराई और चली गयी, कुछ दिन तक मेंरा उससे कोई आमना सामना नही हुआ. फिर एक दिन मेंरा कंपनी में ऑफ था तो में आराम से सो कर उठा और सिगरेट पीने के लिये फ्लेट से बाहर जा रहा था तो मैने देखा की वो बाहर झाड़ू लगा रही है, क्योकि उस दिन उनकी नोकरानी नही आई थी, और उसने शॉर्ट टी-शर्ट और शॉर्ट जीन्स पहन रखी थी. जब वो झुक कर झाड़ू लगा रही थी तो उसका मस्त बूब्स साफ दिखाई दे रहा था, मैंने उनको देखा तो देखता ही रह गया, उस वक़्त वो मस्त लग रही थी, तभी में उसको टच करता हुआ वहा से निकल गया, और उसने हल्की सी मुस्कान दी, तो मुझे लगा की कुछ काम बन सकता है, फिर कुछ दिन के बाद एक दिन में दोपहर को ऑफीस से घर आया तो भाभी जी अपने फ्लेट के बाहर खड़ी थी.मैंने उनको पूछा की क्या हुआ भाभी जी, तो उन्होने कहा की मेंरी फ्लेट की चाबी खो गयी है, और आप के भाई साहब भी, किसी कंपनी के केस के काम से नैनिताल गये है, तो मैंने उनको बोला की आप मेंरे फ्लेट में आ जाओ में कुछ देर बाद किसी चाबी वाले को लेकर आ जाऊँगा तब वो मेंरे घर में आ गई, हम दोनो ने एक साथ मिलकर कोल्ड ड्रिंक पी, और उसके बाद में बाथरूम चला गया, तभी भाभी जी ने टी.वी चालू कर दिया, उसमें मैंने सीडी पर ब्लू फिल्म लगा रखी थी, टी.वी चालू करते ही ब्लू फिल्म चालू हो गयी, मैं बाथरूम से बाहर आया तो देखा की भाभी जी फिल्म देख रही है, मुझे देखते ही बोली की कैसी-कैसी फिल्म देखते हो, मैंने उनको सॉरी बोला और टी.वी ऑफ कर दिया, फिर मार्केट से चाबी वाले को ला कर उनका लॉक ओपन करा दिया,

READ ALSO:   Aunty Ko Patake Unke Saath Sex Ka Maja Liya

शाम को भाभी जी ने मेंरे गेट की डोर बेल बजाई, और बोली की अमित आज शाम को क्या कर रहे हो मैंने कहा की कुछ नही बस खाना खा कर सोना ही है, तो वो बोली की आज आप खाना मेरे साथ ही खा लो आप भी अकेले हो और में भी अकेली हूँ कुछ कंपनी मिल जायेगी, मैंने कहाँ ठीक है, फिर मैं उनके फ्लेट में चला गया, और वो किचन में खाना बना रही थी, में ड्रॉइग रूम में था, और चुपके से उनको देख रहा था, तभी वो पीछे मूड कर मुझे देखते हुये बोली की अमित क्या देख रहे हो, मैंने कहा कुछ नही. तो उन्होने कहा की खाने से पहले कुछ ड्रिंक्स हो जाये, ठीक है. इट्स गुड आइडिया में अभी लेकर आता हूँ, तो वो बोली की आपके भाई साहब की रखी है, में ला के देती हूँ, और उन्होने मुझे एक बियर ला कर टेबल पर रख दी, मैंने कहा की आप नही लेंगी तो उन्होने कहा की में नही पीती हूँ में आप के साथ सॉफ्ट ड्रिंक लूगी, और हम दोनो ने साथ में बेठ कर काफ़ी सारी बाते की, तभी मैं धीरे धीरे उनके पास जाने लगा और बिल्कुल उनके पास में जाकर बेठ गया, और एक हाथ को उनकी बाहो में डाल दिया, तो वो बोली अमित क्या कर रहे हो.

चलो खाना ठंडा हो रहा है, में बोला की कुछ देर बैठो फिर चलते है, और फिर में उसके साथ मस्ती करने लगा था. मस्ती मस्ती मैं उनको पता चल रहा था और वो मुझे कह रही थी की अमित बस करो यह सब ठीक नही है, लेकिन में अपने काम पर लगा रहा. फिर वो भी धीरे धीरे गर्म होने लगी, तभी उसने मेरी पेन्ट पर हाथ रखा और मेंरा लंड सन-सन्न गया लंड पूरी तरह से बाहर निकलने को तड़पने लगा, भाभी जी पेन्ट के उपर से मेरे लंड को सहलाने लगी, लंड बाहर निकलने को तड़पने लगा, और उन्होंने मेंरी चैन खोल कर मेंरी पेन्ट उतारने लगी, और मैने अपनी पेन्ट निकाल दी, और अंडरवेयर भी उतार दी, जब उन्होने मेंरा 8 इंच लंबा और 3.5 इंच मोटा लंड देखा तो वो उस पर टूट पड़ी और लंड को चूसने लगी. में भी उसे पकड़कर किस करने लगा. फिर धीरे धीरे उसे चूमता रहा, जब मुझे एहसास हुआ की वो पूरी गर्म हो चुकी थी तो मैने उसके कपड़े उतारना शुरू किया.

उसके कपड़े उतरने के बाद उसकी कोमल नाज़ुक जवानी देखकर मैं थोड़ी देर दंग सा रह गया. उसका फिगर बिल्कुल आइडीयल फिगर था, उसका फिगर यही कोई 30-28-30 था. उसके बूब्स तो बड़े छोटे-छोटे और गोरे-गोरे थे. उसकी चूत पे एक भी बाल नही था और गुलाबी रंग की बड़ी रसीली चूत थी. फिर मैने मेरे सारे कपड़े उतार दिये और उसे मेरा लंड अपने मुहँ मे डाल कर चूसवाने लगा फिर वो मेरा लंड मुहँ मे लिये 10 मिनट तक चूसती रही. वो पहली बार ये सब कर रही थी क्योकी शर्मा जी ने कभी भी उसके साथ ऐसा नही किया था. लेकिन फिर भी किसी जानकार लड़की की तरह ये सब कर रही थी. उसके लंड चूसने में ही मेरा पानी निकल गया. फिर में उसकी चूत चाटने और चूसने लगा. तो वो छटपटाने लगी.
मेने मेरी जीभ उसकी चूत मे डाल के उसे जीभ से चोदने लगा. अब मेरा लंड फिर से लोहे की तरह सख़्त हो गया था अब मेने उसे बेड पे लिटा दिया और मेरा लंड उसकी चूत पर रखकर धीरे धीरे अंदर डालने की कोशिश कर रहा था. लेकिन वो अंदर नही जा रहा था फिर थोड़ी देर धीरे धीरे करने के बाद मैने उसके होठ पर अपने होठ रख के उसे किस करने लगा और एक ज़ोर का झटका दिया और पूरा लंड उसकी चूत मे अंदर डाल दिया. उसके मुँह से एक चीख निकल गयी लेकिन मेरे मुँह के अंदर दब गयी.. अब में थोड़ी देर उसकी टाइट और रसीली चूत मे मेरा बड़ा और मोटा लंड डाले हुये बिना हिले डुले उसके उपर पड़ा रहा और उसके बूब्स दबाता रहा और उसे किस करता रहा.

READ ALSO:   प्यार की नयी परिभाषा (Pyar Ki Nayi Paribhasa)

फिर थोड़ी देर बाद उसे जब अच्छा लगने लगा तब मैने झटके देना शुरू किया. में उसकी बिल्कुल मस्त चूत में मेरा बड़ा और मोटा लंड अंदर-बाहर करके उसे चोदे जा रहा था और वो भी नीचे से उसके कूल्हे उठा-उठा के मज़े लेकर मुझसे चुदवा रही थी. उसके मुँह से बड़ी अज़ीब सी अवाजे आ रही थी. वो मुझे ललकार रही थी. और ज़ोर से चोदो अपनी रानी को. अमित जोररररर से करो की पूरा मजा….आ जाये आज तुमने मुझे सुहागन का मज़ा दिया है. अब तो में और तुम रोज़ इसी तरह से रोज़ किया करेगें, फाड़ दो अपनी रानी की चूत को. उसके मुँह से ऐसी बातें सुन के मुझे बड़ा आश्चर्य हुआ लेकिन तकरीबन 30-35 मिनट उसे चोदने के बाद मैने अपना प्यार रस उसकी चूत मैं डाल दिया. फिर पूरी रात हम दोनों एक साथ नंगे ही सो गये, और सुबह 5:00 बजे एक बार उसी तरह जबर्दस्त ठुकाई की. और फिर हम सो गये, 8:00 बजे मेंरी नीद खुली तो फिर हम लोग जल्दी से फ्रेश हो कर अपने–अपने काम पर निकल गये शाम को मिलने का वादा करके. फिर अगली शाम को हमारा प्रोग्राम स्टार्ट हुआ.

उस रात मैने उसे बाथरूम मे चलने का इशारा किया. वो उठकर बाथरूम में आ गई फिर में भी बाथरूम आ गया. अंदर आ कर मैने उसे पीछे से ज़ोर से पकड़ कर उसके बूब्स ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा, उस दिन उसके बूब्स बहुत टाइट थे. उसने अपनी आँखे बंद कर दी. में उसके बूब्स को टी-शर्ट के उपर से दबाने लगा. थोड़ी देर बाद एक हाथ से उसकी केफरी निकाल दी और उसकी चूत मे उंगली डाल दी और उंगली से उसकी चुदाई करने लगा. थोड़ी देर बाद मैने उसके सारे कपड़े निकालकर बिल्कुल नंगी कर दिया. अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी. मैने अपनी पेन्ट की चैन खोल कर अपना लंड बाहर निकाला तो वो मेरा लंड देखकर वो फिर पागल हो गयी और एक हाथ से ज़ोर से मेरे लंड को पकड़ लिया.

READ ALSO:   Khubsurat Bhabhi Ka Dudha Piya aur Sex Ka Maja liya

अपने कोमल हाथो से मेरे लंड को वो सहलाने लगी और बाद मे नीचे बैठ गयी और मेरे लंड को कुतिया की तरह चूसने लगी. अपनी ज़ुबान से वो मेरे लंड को चाट रही थी. धीरे धीरे उसने मेरा लंड अपने मुहँ मे लेना शुरू कर दिया. लंड बहुत टाइट और बड़ा था उसके मुहँ मे पूरा नही आ रहा था. मैने उसके बाल पकड़ कर एक जोर का धक्का लगाया, आधा लंड उसके मुहँ मे चला गया, उसकी आँखो से पानी निकल आया. फिर धीरे धीरे ज्यादा से ज्यादा लंड वो मुहँ मे रख कर चूसने लगी. 15-20 मिनिट के बाद खूब लंड चुसवाने के बाद मैने उसे घोड़ी बनने के लिये कहा वो अपनी दोनो टाँगे मोड़ कर घोड़ी हो गयी. इस स्टाइल में औरत को बहुत मज़ा आता है. में भी घुटनो के बल बैठ गया और पीछे से अपना लंड उसकी चूत पर लगाया और दोनो हाथो से उसके बूब्स पकड़ कर एक ज़ोर का शॉट लगाया उसके मुहँ से चीख निकल गयी. में अपना लंड उसकी चूत में ऐसे ही डाल कर उसके बूब्स दबाता रहा जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो धीरे धीरे अपना लंड अंदर बाहर करने लगा. वो धीरे से बोली ‘आज मेरी सारी प्यास बुझा दो. मेंने कहा ‘आज तो तुझे ऐसे चोदूंगा की सारी उम्र तू मेरा लंड याद रखेंगी’ उसे टाइट और हार्ड लंड का मज़ा आ रहा था.

में उसे चोदे जा रहा अब वो गालियाँ देने लगी. अपने पति को की उसके लंड मे दम नही है , उसने कहा ‘तुम मुझे मेरे पति के सामने चोदो, चुदाई कैसे करते है ये तो उसे पता चल जायेगा’ इस तरह से में उसे बहुत तेज रफ़्तार से चोदे जा रहा था और वो बड़बड़ा रही थी. सही मे दोस्तो उसकी चूत का मज़ा मेरे लंड को जो आया ना वो किसी मे नही था. 25 मिनट तक उसकी चूत का कुचुंबर निकालने के बाद मैने सारा पानी फव्वारे की तरह उसकी गरम गरम चूत मे उडेल दिया और लंड को बाहर निकाल कर उसके मुँह मे दे दिया मेरा और उसका जो पानी मेरे लंड पे चिपका हुआ था उसे वो आइसक्रीम की तरह चाटने लगी. उस रात को मैने उसे 3 बार अलग अलग तरीके से चोदा. उसके बाद जब भी हमें मोका मिलता हम एक दूसरे में समा जाते. आज तक मेने उसे कितनी बार चोदा है यह मुझे भी याद नही है लेकिन आज भी में उसे बड़े प्यार और मजे से चोदता हूँ और वो भी चुदवाती है.
धन्यवाद

Related Stories

Comments