Bhauja will be Odia only. Every bhauja user can publish their story and research even book on bhauja.com in odia. Please support this by sending email to sunita@bhauja.com.

Hindi Sex Story

Hi Re Tera To Loda (हाई रे तेरा तो लौडा)






मैंने दरवाजे की घंटी बजाई तो मिसेज़ आभा गुप्ता ने दरवाजा खोला और खोलते ही बोली hai handsome उंदर आ जाओ मैं तुम्हारा ही इंतजार कर रही थी उसने तुंरत दरवाजा उंदर से बंद किया और मुझसे लिपट गयी मैंने भी उसे अपनी बाँहों में समेट लिया और धीरे धीरे उसकी चून्चियां ब्लौस के ऊपर से ही दबाने लगा वह भी अपना हाथ मेरी पीठ से धीरे धीरे नीचे लाकर मेरे लंड को पैंट के ऊपर से रगड़ने लगी मुझसे रहा नही गया मैंने उसका ब्लौस उतर दिया उसकी ब्रा का हुक खोल दिया ब्रा खुलते ही उसकी चून्चियां उछल कर सामने आ गयी नंगी नंगी चूंची को देख कर मेरा लंड उंदर से ही खड़ा होने लगा मैं मिसेज़ आभा को नंगी कर रहा था केवल पेटीकोट ही बाकी था उधर आभा ने मेरी अंडरवियर को छोड़कर बाकि सभी कपड़े उतर रखे थे अब मैंने उसके पेटीकोट का नाडा भी खोल दिया उसकी चूत अब मेरे सामने बिल्कुल नंगी दिखायी पड़ रही थी चिकनी चूत बड़ी सुंदर लग रही थी क्योकि झांटे नही थी इतने में वह घुटनों के बल बैठ गयी औए मेरी नेकर उतार दिया मेरे लंड फनफना कर खड़ा हो गया usne लंड को हाथ में लाकर कहा हाई रे तेरा तो लौडा बड़ा तगड़ा है आज तो मेरी चूत को मज़ा आ जाएगा उसने लंड का कई बार चुम्मा लिया और फिर उसे मुह में डाल कर चाटने लगी बार बार लंड का सुपाडा निकाल कर जबान से खूब चाटने लगी मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था मैंने उसकी बाहें पकडी और खड़ा किया उसको अपने सीने से लगाया उसकी चून्चियों का स्पर्स मुझे बड़ा मज़ा दे रहा था मैं उसके चूतडों को सहलाने लगा इतने में मिसेज़ आभा ने कहा चलो उंदर चलें वह मेरे लंड को पकड़ कर आगे आगे चल रही थी और मैं उसके पीछे पीछे जैसे ही मैं बेडरूम में पहुँचा तो वहां का नज़ारा देख कर दंग रह गया एक औरत जिसकी उम्र लगभग आभा के ही बराबर होगी एकदम नंगी लेती थी उसके नीचे एक आदमी नंगा लेटा था वह औरत इस आदमी का लंड सहला रही थी उसकी चूंची भी बड़ी बड़ी थी और उस आदमी का लंड भी मज़े का तगड़ा था मुझे चकित देखकर मिसेज़ आभा बोली यार घबराओ नही यह मेरी सहेली मिसेज़ नीना खन्ना है मेरी तरह इसका पति भी विदेश में रहता है साल में एक ही बार आता है इस लिए हम दोनों लंड को तरस जाते है तब हम दोनों ने मिलकर इन्टरनेट के जरिये पराये मर्दों से संपर्क साधना सुरु किया तब कहीं जाकर हमें लंड नसीब होने लगे है जिस आदमी का लंड मिसेज़ नीना पकड़ कर हिला रही है वह इसी के ऑफिस में काम करता है इसका नाम है करण मैं जैसे ही बेड पर चढा नीना ने मेरा लंड पकड़ लिया और बोली यार आभा यह लंड भी साला बड़ा कड़क दार है आज तो चुदाई में मज़ा आ जाएगा आभा बोली अच्छा तुम दो दो लंड का मज़ा लो तब तक मैं सबके लिए शराब बनाकर लाती हूँ
थोडी देर में में शराब के गिलास हम चारों के हाथ में थे शराब पीने का मज़ा आने लगा नीना तो शराब में मेरा लंड डुबो डुबो कर चाट रही थी उसी तरह आभा भी करण के लंड को पकड़ कर करने लगी मैं भी कम नही था मैंने नीट शराब को आभा की चूत पर डाला और उसे चाटने लगा ऐसे ही करण नीना की चूत में शराब डाल कर चाटने मैंने उन दोनों की चुन्चिओं को भी नही छोड़ा उनपर शराब उडेल कर हम दोनों ने खूब मज़ा लिया अब तक एक पग ख़तम हो चुका था दूसरा सुरु हो गया अब नीना ने मुझे चित लिटा दिया मेरा लंड छत ताकने लगा नीया उस पर बैठ गयी लंड पूरा उसकी चूत में घुस गया वह अपनी गांड उछाल उछाल कर मेरा लंड ही चोदने लगी उधर करण आभा को कुतिया बना कर पीछे से चोदने लगा नीना करण के पेल्हर सहला रही थी और आभा मेरे पेल्हर को धीरे धीरे मसल रही थी आभा मुझसे बोली यार विक्रम तू अपना लंड मेरी चूत में घुसेड दे साले भोसड़ी के अब मुझे चोद यह सुन कर मैं आभा को चोदने लगा और कहा ले भोसड़ी की बुर चोदी आभा मेरे लंड का मज़ा लेले माँ की लौड़ी उधर नीना बोल रही थी बेटी चोद करण साले जल्दी जल्दी चोद साले तेरा लौडा बड़ा मस्त है बड़ा मज़ा आ रहा है बहन के लौडे तू तो बड़ा चुदक्कड लगता है इतने फिर दोनों ने लंड बदल लिए अब मैं नीना को चोदने लगा और करण आभा को मेरा लंड खूब तनाव पर था जल्दी जल्दी चोद कर मेरा लंड अपने रस से खूब भर चुका था मैंने उसे नीना की बुर से निकला तब तक नीना उठ कर बैठ गयी मैं उसके मुह में झड़ गया नीना मेरे झड़ते हुए लुंड को चाटने लगी ठीक ऐसा ही करण के साथ हुआ आभा उसका एक एक बूँद चाट गयी उन दोदो ने हम दोनों के लंड का कई बार चुम्मा लिया तब तक लुंड शांत हो चुके थे हम चारों ने बाथरूम में जाकर खूब नहाया करीब करीब एक घंटा के बाद हम चारों फिर बेड पर आगये
अब आभा मेरे बगल में लेती थी मेरी दूसरी तरफ़ नीना लेती थी करण हम तीनो के सामने लेट कर नीना और आभा की चूत बारी बारी से चूसने लगा नीना और आभा दोनों मिलकर मेरा लंड से खेलने लगी तब मैंने आभा से कहा की तुमको अपने पति से डर नही लगता तो उसने बताया की हमने अपने पति को परायी बीवी को चोदने का चस्का लगा दिया ऐसा ही नीना ने भी किया सुरु सुरु में नीना के पति ने मुझे चोदा और मेरे पति नीना को वहीं से सिलसिला सुरु होगया अब हमारे पति विदेश में परायी बीविओं को चोदते है और हम दोनों पराये मर्दों से चुद्वाते है इसलिए अब हमको न तो कोई डर है और न ही संकोच मैंने आभा से पूंछा की तुमने लंड पकड़ना कब से सीखा सब से पहले लंड किसका पकड़ा वह बोली सब से पाल्हा लंड मुझे टूशन पढ़ने वाले लड़के का था तब वह १८ साल का था और मैं केवल १४ साल की मेरी चुन्ची निकल आयी थी चूत में चुलचुली होने लगी थी एक दिन घर पर कोई नही था मेरी चुन्ची थोडी खुल गयी वह लड़का मेरी चुन्ची देख रहा था तो मैंने थोडी और खोल दी मैंने कहा क्या देख रहे हो तो वह बोला तुम बहुत सुंदर हो मैंने कहा की मैं सुंदर हूँ की मेरी चुन्ची तो वह सन्न रह गया मैंने हाथ बढ़ा कर उसका लंड पैंट के ऊपर से ही रगड़ कर कहा की तुम भी अपना दिखाओ न वह खड़ा हो गया बोला मुझे नंगा करो और देख लो लेकिन पहले तुमको नंगा होना पड़ेगा तो मैं नंगो हो गयी फिर उसको नंगा किया उसका लंड खड़ा था मैंने हाथ बढ़ा कर पकड़ लिया और सहलाने लगी बोली इतना बड़ा बाप रे उसने कहा आभा इसको क्या कहते है इसको लंड कहते है मैंने कहा तुमको किसने बताया मैंने कहा मेरी सहेली ने वह मुस्लमान है और अपने अब्बा का लंड हर रोज़ पकड़ती है उसके घर में चोदा चोदी खुलेआम होती है उसदिन मैंने उसका लंड मुह में डाल कर खूब चूसा उसने मुझसे सड़का लगवाया इसके बाद मैं उस मुस्लमान सहेली के घर जाने लगी उसके घर में जितने आदमी थे उन सबका लंड पकड़ने लगी दरअसल मुझे तभी से लंड पकड़ने का शौक लग गया यह कह कर आभा मेरा लंड चूसने लगी नीना करण का लंड चूस रही थी नीना ने बताया वह उस समय मैं १२ साल की थी एक दिन मेरा जीजा घर पर अकेला था तब मैं स्कूल से आ गयी मैंने देखा की मेरा जीजा साला नंगे होकर ब्लू फ़िल्म देख रहा है फ़िल्म देखने में मुझे भी मज़ा आने लगा मैं चुपचाप छुप कर देखने लगी लेकिन मेरी नज़र उसके लंड पर ज्यादा थी मैं धीरे धीरे जीजा के पास गयी और बोली जीजा यह क्या देख रहे हो मैं दीदी से बतला दूँगी तो वह बोले आ नीना तू भी देख ले मैंने कहा मैं ब्लू फ़िल्म नही देखूंगी मुझे वह दिखाओ मैंने उसके लंड की तरफ़ इशारा करके कहा जीजा ने कहा तो इसमे शर्म की क्या बात है ख़ुद खोल कर देखलो न तब मैंने उसे नंगा किया उसने मुझे मैंने उसका लंड पकड़ा और मुठीयाने लगी लंड देखते देखते ही खड़ा हो गया मेरा मुह अपने आप खुल गया मैंने लंड चाटने लगी फिर उसने जल्दी जल्दी सड़का लगवाया और मेरे मुह के ऊपर ही झड़ गया बाद में मैंने उसके दोस्तों का भी लौडा पकड़ा इस तरहे से मुझे लंड पकड़ने की आदत पड़ गयी अब मैं बिना लंड के एक दिन भी नही रह सकती यह कह कर नीना ने करण का जोरदार सड़का मार दिया

Related Stories

READ ALSO:   सजा देने में मजा आया

Comments