Bhauja will be Odia only. Every bhauja user can publish their story and research even book on bhauja.com in odia. Please support this by sending email to sunita@bhauja.com.

Hindi Sex Story

उसने मेरे सेक्स की भूख मिटा दी






मैं पंजाब से हूं और मैं सेक्स का हर वक्त प्यासा रहता हूं, मैं २४ साल का हूं, ये बात तब कि है जब मैं १९ का था और मेरे घर में मैं, मोम और डैड हैं हमारे घर पर एक काम वाली नयी आयी, क्या चीज़े थी, मैं तो पहले दिन जब उसको देखा तो बस देखता ही रह गया और सोचा कि अब शायद मेरा काम हो जायेगा मेरे लंड जी की प्यास बुझ जायेगी, उसकी फ़ीगर देख कर मेरा तो लंड उछलने लगा उसकी फ़ीगर ३६-३२-३६ थी। वो शादी-शुदा थी और ६ फ़ीट की गोरी चिट्टी औरत थी, और मोटी मोटी आंखें थी। एक दिन जब वो मेरे रूम में सफ़ाई कर रही थी तो मैने उसके बड़े २ बूब्स देखे और उसके चले जाने के बाद, मैं बाथरूम चला गया और अपने लंड को बाहर निकाल कर उसके नाम की मुठ मार दी। मैं उससे सेक्स करना चाहता था लेकिन डरता था उससे।

एक दिन मोम और डैड दोनो बाहर चले गये। मैं घर पे अकेला था और शाम के ५ बजे थे मैंने ब्लू मूवी देखनी स्टार्ट की और अपना लंड बाहर निकाल लिया। अचानक काम वाली अंदर आ गयी न जाने वो कब आ गयी, मुझे पता नहीं चला कि कब मैन गेट खुला और वो अंदर आ गयी मैने उसे देख कर डर गया और वो मुझे नंगा देख कर बाहर चली गयी और किचन में जाकर बर्तन धोने लगी। मैं डरा हुआ टीवी बंद करके अपनी पैंट बंध कर रसोई में चला गया और मैने धीरे से कहा कि आंटी चाय पेयोगी वो गुस्से में बोली नहीं। मैं और डर गया। मैने कहा आंटी प्लीज़ किसी को मत बताना जो अंदर देखा। वो कुछ नहीं बोली। मैने फिर कहा प्लीज़ मोम को मत बताना। उसने कहा तुझे शरम नहीं आती ये सब करते हुए। मेरे पसीने छूट गये। मैने हाथ जोड़े प्लीज़ आंटी, मुझे पता नहीं चला कि आप कब आ गयी और मैं गरम था, उसने मुझे आंखों से घूरा और वो बोली तुम सारा दिन ये ही करते हो क्या, चल अपने रूम में जा। मुझसे बात मत कर मैं तेरी मां को बोल दूंगी की इसकी शादी कर दे। मैने बहुत रेकुएस्ट की।

READ ALSO:   आंटी ने दारू पिला कर चूत चुदवाई

लेकिन वो नहीं मानी। मैं रूम में आ गया वो १५ मिनट बाद मेरे रूम में आयी और मेरे पास आकर खड़ी हो गयी मैने फिर कहा आप जो कहोगी करूंगा अगर तुमको पैसे चाहिये तो ले लो, वो और गरम हो गयी और मुझे थप्पड़ लगा दिया और कहा मैं बिकाऊ नहीं हूं। मैं रोने लग गया। वो मेरे पास बेड पर बैठ गयी और बोली ये रोकर किसको दिखा रहा है। मैने कहा प्लीज़्ज़ज़्ज़ज़्ज़ज़्ज़ज़्ज़ आंटी अब नहीं करूंगा, वो बोली क्या नहीं करेगा, मैने कहा मुठ नहीं मारूंगा, बोली पक्का। मैने कहा प्रोमिस। उसने अपनी टांगे बेड पर रखी उसने काली साड़ी पहन रखी थी। उसने मेरे गालों पर हाथ लगाया और बोली मत रो, मेरे राजा मैं तो तुमको डरा रही थी।

तू तो सच में डर गया, चल अब शुरु हो जा मस्ती कर, ये ही तो उमर है ये सब करने की, मुझको ऐसी बातें सुन कर थोड़ा सकून मिला। और उसने अपना हाथ मेरी ज़िप पर रखा, अरे मेरे राजा तुम्हारा लंड तो सो रहा है। मैं उसके मुंह से लंड शब्द सुन हैरान रह गया और उसने कहा चल अपनी पैंट उतार। मैने कहा क्या आंटी बोली सुनाई नहीं देता क्या, चल। मैने अपनी पैंट उतार दी और उसने मेरा अंडरवियर खींच दिया और मेरे ३ इंच के लंड को हाथ लगाया और मेरा लंड टाइट होने लगा और उसने मेरे लंड की टोपी को अपने अंगूठे से स्पर्श किया ,अब मैं मस्त हो गया और वो बोली तेरा लंड तो बहुत बड़ा है और देखते ही देखते मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया और उसने मेरा ८ इंच का लंड अपने मुंह में ले लिया और उसको चूसने लगी, मुझे ऐसा अनुभव पहली बार हुआ, मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मैं स्वर्ग में हूं

READ ALSO:   [କ୍ଷୁଦ୍ର ଗଳ୍ପ] ଭାଉଜ ର ବିଆ ଫଟେଇଲି - Bhauja Ra Bia Phateili

मेरे लंड को चूसने के बाद वो खड़ी हो गयी उसने अपनी साड़ी उतार दी और अपना पेटीकोट भी, मैने भी हिम्मत कर अब उसके बूब्स दबा दिये और उसका काली ब्रा उतार फ़ेंका वो उसके मोटे २ गोरे २ बूब्स को दबाने लगा, उसकी चूचियां कड़ी हो गयी और बोली समीर बाबु दबा ज़ोर से, आआआआह्हह्हह ऊऊह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह, मैं भी बहुत दिनो की प्यासी हूं। मैने उसके मम्में जमकर चूसे वो सिसकियां ले रही थी और ऐसे में मैने एक हाथ से उसकी पैंटी उतार दी और अब हम दोनो बिल्कुल नंगे हो गये, मैने उसकी चूत में उंगली डाल दी, वो सिसकियां ले रही थी आअह्हह्हह्हह्हह समीर बाबु मर गयी। आज मेरी प्यास बुझा दो हम अब ६९ पोजिशन में आ गये उसने मेरा लंड फिर चूसना शुरु किया और मैने अपनी जीभ उसकी गरम चूत पर रख कर उसे कुत्ते की तरह चाटने लगा।

उसने अब अजीब अंदाज़ में कहा साले कुत्ते अब मत तड़पा चोद दे मुझको फाड़ दे मेरी चूत, मरी जा रही हूं मैं ऐसा सुनकर मैने भी बोला चल साली रांड आजा आज तेरी चूत फाड़ दूंगा और मैने उसे कुतिया बना लिया और लंड का सुपाड़ा उसकी चूत पर रख दिया और हल्का सा धक्का लगाया और वो बोली आअह्हह्हह्हह्हह्हह्हह ऊऊह्ह ह्हह्हह्हह्हह साले पूरा डाल अपनी रंडी आंटी के अंदर और मैने ज़ोर से झटका दिया और बोला ले साली रंडी आंटी अब पूरा ८ इंच का लंड उसकी चूत में प्रवेश कर चुका था। वो बोल रही थी आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊओह्हह्हह्हह्हह आआऊऊऊऔऊऊउस्सछह्हह मार डाला रे, इतना दर्द तो सुहागरात को नहीं हुआ, हरामी तेरा लौड़ा ही इतना बड़ा है, ऐसे गालियां सुन मुझे गुस्सा आया और मैं ज़ोर २ से उसको चोदता गया और वो मुझे गालियां दिये जा रही थी साले कुत्ते आअह्हह्हह्ह फाड़ दे आह्हह समीर बाबु आआह्हह्हह्हह ऊऊऊह्हह्हह आज लगा दे सारा ज़ोर।

READ ALSO:   ମୋ ଦୁଃଖି ଭଉଣୀକୁ ଖୁସି ଖୁସିଦେଲି - Mo Dukhi Bhuniku Khusi deli ...

कमरे में चुदाई की आवाज़ और आआआअह्ह ऊओह्हह्ह की आवाज़ से भर गयी। और वो पागल हो गयी मैं भी वो सीधी लेट गयी और मैने उसकी टांगे खोल कर उसकी फिर से चुदाई शुरु कर दी और वो मेरी पीठ पर नाखून सहलाने लगी उसने मेरी चेस्ट पर कात लिया और वो अब दूसरी बार झड़ गयी और बोली साले आज फाड़ देगा क्या चल ज़ोर लग आआआअह्हह्हह्हह्ह मेरा वीर्य आ गया और मैं आनन्द से भर गया। और सारा वीर्य उसकी चूत में ही छोड़ दिया और अब हम दोनो शान्त हो गयी। उसने मेरे माथे पे किस किया और बोली तू मुझे रोज़ चोदा कर मैं तेरी इस चुदाई से खुश हुई

Editor: Sunita Prusty

Publsiher: Bhauja.com

Related Stories

Comments