स्वामी जी का इलाज (Swami Ji Ka Ilaj)



Pepperfry Offer : Shubh Aarambh Sale! Up to 55% Off on Just About Everything.
आज मैं अपको जो कहनि सुनने जा रहा हु वो मेरे ममि कि है जिनके बरे मे मैं अपने कहनि जिसका नाम ‘सेक्स विथ मी ममि’ दिया था। मुझे पुरा विशवश है कि वो कहनि अपको बहुत अछि लगि होगि। आज मैं उनकि दुशरि कहनि सुनने जा रहा हु। मैने उस कहनि मे जैसा कि अपको बता चुका था कि मामि जो एक विदोव है, और उनकि एक बेति भि है जिसति उमर पाच साल कि है। अब मुझे बिसवस है कि अपको याद आ गयि होगि। मैने उस कहनि मे जैसा कि अपको बतया था कि मैने ममि से सेक्स करते समय बतया था कि उनके समसया का समधन सवमिजि के दवरा हो सकता है।

आज मैं वो कहनि अपको सुनने जा रहा हु वो ममि कि सवमिजि से मुलकत कि है। मैं जब दोबरा ममि के यहा गया तो उनसे सवमि जि के पास चलने के लिये बोला। मैने उनसे बता दिया कि मैने उनके लिये सवमिजि से समय लिया है। मैं ममि के यहा सतुरदय को गया था। सुनदय को सवमिजि किसि से मिलते नहि थे। इसलिये मैने ममि से सुनदय को सवमिजि के पास चलने के लिये बोला। ममि तैयर हो गयि। उनहोने अपने लदकि को एक रिसतेदर के पास छोद दिया और मेरे साथ सवमिजि से मिलने चल दिया। जब हमलोग सवमिजि के अशरम पर पहुचे तो उस समय साम के छे बज रहा था। सवमि जि अकेले हि थे।मैने सवमिजि को पैर छुकर परनम किया तो सवमिजि ने खुस रहो कहके असिरवद दिया। ममि ने जब उनको परनम किया तो सवमिजि ने ममि के पिथ पर हनथ फेरते हुए अशिरवद दिया और दोनो हनथ से उनके कनधे को पकद कर उथया।

कुछ देर अराम करने के बाद सवमिजि ने ममि को नहने के बाद पुजा पर अकर बैथने के लिये बोला तो मैने अशरम के मेन गते को बनद कर के उपर चला गया और ऐसे जगह पर बैथा जहा से सब कुछ साफ़ दिखै दे रहा था। ममि नहने के बाद दुसरा कपदा पहन कर आके सवमिजि के सामने बैथ गयि। सवमिजि ने अखे बनद कर लिया। अनखे बनद करने के बद सवमिजि ने कुछ देर तक मन मे कुछ गुनगुनते रहे। इसके बाद उनहोने मामि के सर पर हनथ रख कर ममि के बरे मे सबकुछ बतया जो मैने उनसे बतया था । इस तरह ममि को अपने बिसवस मे ले लिया।

अब सवमि जि ने ममि से बोले ‘ अब तेरे पति का अतमा मेरे यहि पास मे आ चुका है। वो तुमसे मिलना चहता है। लेकिन वो सिधे तुमहरे अनदर नहि आ सकता इस के लिये मैं उसे अपने अनदर बुलता हु। मैं जो भि कहुनगा उसे तुम चुपचप करते जना। ममि ने सर हिला के उनका जबब दिया। अब सवमिजि ने अख बनद के उनसे बोला वो तुमसे समभोग करना चहता है। इसके लिये तुम बिलकुल हि निरवसत्रा हो जओ। ममि ने खदा होकर अपने तन के सरे कपदे उतर दिये और अब वो सवमिजि के सामने बिलकुल हि ननगि खदि हो गयि। सवमिजि ने अखे खोल कर ममि को पास पदे बेद पर जाकर लेत गयि। अब सवमिजि वहा से उथ कर जब ममि के पस पहुचे तो उनके हनथ मे तेल कि एक दिबि थि। सवमिजि ने ममि के पुरे ननगे बदन को धयन से देखते रहे। इसके बाद सवमिजि ने ममि के चुद पर तेल दल दिया। तेल दलने के बाद सवमिजि ने ममि के चुद के कोमल बालो को सहलना सुरु किया ।ममि ने अखे बनद करलिया। कुछ देर के बाद सवमिजि ममि के जनघ पर बैथ गये और ममि से बोले ‘अब वो तुमहरे अनदेर जना चहता है’। इतना कहकर सवमिजि ने जैसे हि अपने लुनद , जो लगभग 8″ लमबा और 2″चौदा था, ममि के चुद के लिये जो कि 5″ कि थि, के लिये बहुत बदा था को चुद पर सता दिया।

READ ALSO:   दो बहनों की चुदाई ! (Do Bahne Ki Chudai)

ममि ने उसे अपने दोनो हनथो से अपने चुद को फैलते हुए रसता दिखया। सवमिजि ने कमर को एक जोर का झतका देने के बाद कमर को हिलना सुरु किया तो कमरे मे आआआआआआआआअह्हह्हह्हह्ह, आआआआआआआआआआह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह ऊउईईईईईईअ औऊआआआआआआआअह्हह्हह्हह्हह नाआआआऐहैआआआआआआआआअ नाआआआआऐईईईईईईईई कि अवज गुनज उथि। सवमिजि ममि के उपर लेत गये। अब उनहोने कमर को हिलना बनद कर दिया और पास पदे दिबे से सरसो का तेल निकल कर ममि के दोनो चुचिओ पर लगया। अब उनको अपने हथेलियो मे लेकर मसलना सुरु कर दिया। अब जब ममि धिरे धिरे धिलि पदने लगि तो सवमिजि ने फिर से कमर को झतका देना सुरु कर दिया। फिर से कमरे मे आआआआआआआह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्ह आआआआऔऊऊऊऊऊऊऊऊऊउ आआआआआह्हह्हह्हह्हह्हह आआआऔचाआआह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह आआऐईईईईउआआआआआआआआआआआअ कि अवज अने लगि।

कुछ देर तक सवमि जि ने धिरे धिरे झतके लगते रहे। जब देखा कि मिमि कि मुह से अवज बनद नहि हो रहा तो उनहोने ममि के होतो को अपने होतो मे दबा कर चुसना सुरु कर दिया। अब एक तरफ़ सवमिजि ममि के कमर मे तेज रफ़तर से झतके लगा रहे थे तो दुसरे तरफ़ ममि के दोनो चुचिओ को मसल रहे थे और सथ मे उनके होतो को बुरि तरह से चुस रहे थे। ममि एक मछलि के तरह छतपता रहि थि।

सवमिजि रुकने का नम नहि ले रहे थे। कुछ देर के बाद ममि धिरे धिरे सनत परने लगि। तब सवमि जि ने उनके होतो को अपने होतो से अज़द कर दिया। और कमर को झतका देते हुए उथके बैथ गये। जब मैने धयन से देखा तो पया कि ममि के चुद मे सवमि जि का पुरा लुनद चला गया था। सवमिजि का झत ममि के कोमल झतो से तकरा रहे थे। ममि भि मुसकरा रहि थि और साथ मे कमर हिला हिला कर सवमिजि का साथ दे रहि थि। सवमिजि से ममि ने पुछा कि और कितना बहर है तो सवमिजि ने बोला कि पुरा का पुरा अनदर जा चुका है। ममि इतना सुन कर कमर उथा उथा कर झतका लगने लगि। कुछ देर तक झतका लगने के बाद सवमिजि जब ममि के होतो को चुसने के लिये उनके चेहरे के उपेर झुके तो मैं समझ गया कि अब सवमिजि का सपुरम ममि के चुद मे गिरने जरहा था। ममि भि उनका होथ चुस कर साथ दे रहि थि। थोदे देर मे दोनो सानत पद गये।

READ ALSO:   Bade Ache Lagte Hain -- Romantic Hindi Sex Story

दस मिनुत तक ममि के उपर पदे रहने के बाद सवमिजि उथके बैथ गये और ममि के चुद से लुनद को निकल कर उनके उपर से हत गये। सवमिजि कुछ देर के बाद ममि से करवत बदलने के लिये बोला तो ममि ने उनके तरफ़ अपना पिथ कर लिया। अब सवमिजि ने ममि के गनद मे तेल लगया। गनद मे तेल लगते समय सवमिजि ममि के चुद का तरिफ़ करते हुए बोले ‘कितना कसा हुअ बदन है। आज भि जवनि पोर पोर मे भरि हुइ है।’ इतना सुन कर मामि बोलि ‘अपकेभि लुनद मे जवनि इस कदर है कि वो मेरे चुद को फर देने के लिये बेतब था।’ अब सवमिजि मामि के बगल मे लेत गये। लेतने के बाद सवमिजि ने ममि के गनद पर लुनद को सतया। ममि ने लुनद को अपने हनथ मे लेलिया। सवमिजि ने ममि के गनद पर पहले हनथ फेरा फिर उसे फैलते हुए अपने लुनद के लिये उसमे रसता बनया।

indian-new-delhi-desi-bhabhi-nude-pics-aunty-girls-porn-fuck-xxx-hd-photos13

ममि ने लुनद को अपने गनद के रसते पर लेजकर जैसे हि सतया सवमिजि ने ममि के कमर को पकद कर एक जोर से झतका मारा। ममि आआआआआआआआआअह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह धिरेआआआआआआईईईईईईईईईईईह्हह्हह्हह्हहीईईईईईईईईईईईईइ कर के कहर उथि। सवमि जि ने बोला कि कया हुअ। गया है। ममि बोलि अह्हह्हह्हह्हह्हहाआआआआआआआ आआआआआआआआआअह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्ह थोदाआआआआआअ धिरेआऐईईएआआआआआआआआऊऊऊउचाआआआआआअ धिरे मरिये। सवमिजि ने ममि के कमर को पकद कर जोर से झतका मरा। जब मैने धयन से देखा तो पया कि ममि के गनद मे सवमिजि का अधा लुनद चला गया था। सवमिजि अब ममि के चुचि को एक हनथ से पकद के मसलना सुरु कर दिया।

सवमिजि ने ममि से पुछा कि मजा आरहा है। ममि ने सर हिलते हुए हमि भरा। अब सवमिजि ने अपने पुरे लुनद को ममि के गनद मे एक साथ दलने के लिये एक जोर का झतका उनके कमर को पकद के मरा। ममि का तो जैसे जन हि निकल गयि। कुछ देर तक मौरनिनग करने के बाद ममि सनत हो गयि। सवमि जि ने जोर 2 के झतके मरना सुरु करदिया और लगभग पचिश मिनुत तक जोर 2 से झतका लगने के बाद सनत पद गये तो मैं समझ गया कि सवमिजि ने अपनि तनकि को ममि के गनद मे खलि कर दिया है। अब सवमिजि और ममि जैसे थे वैसे हि सो गये। मैं भि अपने बिसतर पर सो गया।

READ ALSO:   ପଡ଼ିଶା ଘର ଝିଅ ରିତା - Padisha Ghara Jhia Rita

मैं भोर के पनच बजे अचनक जब मेरि निनद खुलि तो मैने निचे कुछ अवज सुनि। मिने जब निचे देखा तो पया कि।ममि पिथ को उपर कर के लिति हुइ थि। सवमि जि उनके जनघ पर बैथ के उनके गोरे गनद मे तेल लगा रहे थे। तेल लगने के बाद सवमिजि अपने लुनद मे तेल लगया। अब सवमि जि ने ममि के गनद पर जैसे हि लुनद सतया ममि ने उसे अपने गनद का रसता दिखया। सवमिजि अपना लुनद ममि के गनद मे दलने के बाद ममि पर लेत गये और जोर जोर से कमर को हिलने लगे। कुछ देर मे हि उनका पुरा लुनद ममि के गनद मे चला गया। लगभग बिस मिनुत तक कमर को हिलने के बाद सवमिजि ने अपना बिज ममि के गनद मे गिरा दिया।

अब सवमिजि ने लुनद निकल लिया और बथरूम मे पेशब करने के लिये चले गये। ममि भि उथके चलिगयि। दोनो लोग एक सथ वपस रूम मे अये। रूम मे अने के बाद सवमिजि ने ममि से बोला अब तुम पहले मेरे लुनद को अपने मुह मे लेके चुसो।सवमि जि बेद पर बैथ गये। ममि ने उनके लुनद को मुहमे लेकर चुसने लगि। कुछ देर के बाद सवमि जि गरम हो चुके थे। सवमि जि ने ममि से लेतने के लिये बोला ममि बेद पर लेत गयि। सवमिजि उथकर ममि के जनघ पर बैथ गये। इस्से पहले कि ममि कुछ समझति सवमिजि ने अपना लुनद पकद कर ममि के दोनो पैरो को फैला कर उसके बिच मे समा गये। ममि के पैरो को समेत्ते हुए सवमिजि ने ममि के चुद पर लुनद सता कर एक जोरदर झतका मरा। ममि के मुह से आआआआआआआआआआआआआ ऊऊऊऊऊऊऊउ औऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊ ईईईआआआआआआआआआआआआ ऊऊऊऊऊ माआआऊ आआआआअ कि अवज निकल उथि। सवमिजि ने ममि के दोनो चिचिओ को बचे के तरह चुसना सुरु कर दिया और जोर 2 से झतके मार के पुरे लुनद को ममि के चुद मे दल दिया। इस बार उनहोने लगभग पैतलिश मिनुत तक ममि कि चुदै किया।

ममि के चुद से जब सवमिजि ने लुनद निकला तो ममि का चुद फुल कर सुज चुका था। ममि को उथा नहि जा रहा था। कुछ देर तक ममि ने अपने चुद कि सेकै गरम पनि से किया। तब हमलोग वहा से तैयर होकर अपने घर वपस अने के लिये वहा से चल पदे।

0 Replies to “स्वामी जी का इलाज (Swami Ji Ka Ilaj)”

  1. Lekin kya Teri maar phirse pregnant hui aur koi janwar ki tarha chudne ki ya us k sath chudne story ho to likho or post karo bcoz meri pyaas badh rhi he

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *