Masti Priya Ke Sath (मस्ती प्रिया के साथ)

Submit Your Story to Us!

मेरा नाम राज है अक्सर कई बार बहुत एसी रोचक और सेक्सी घटनाए मेरे साथ होती है जिन्हें मे किसी से नही बता सकता.पर इश्स के मध्यां से अब मे आप को बता सकता हूँ, भला हो इश्स का, मे आपनी कहानियाँ आगर किसी से नही बता पाता तो मेरा पेट फट जाता. आप सभी का बहुत भौत धन्य्बाद, मुझे देल्ही के सेटिलाइट से 35 साल की मॅरीड लेडी का कॉल आया, उन्होने बताया की वो प्राइवेट. जॉब करती है और मुझसे मिलना चाहती है…मेने आने के लिए हाँ बोलदी उन्होने मुझे डेट बताई कि एस दिन साम को 8 बजे के बाद आप मुझे मोबाइल पर कॉल करना मे बता दूँगी की कहाँ आना है उन्होने आप्ने घर का पता नही बताया मेने कहा की ठीक है है मे उनकी बताई डेट पर साम को सेटिलाइट पहुँच गया. फ्रेश होकर 8:30 पर मेने उनको कॉल किया तो उन्होने मुझे एक मॅरिज गार्डन का अड्रेस बताया और बोला की यहाँ चले आओ शाह परिवार मे शादी है गार्डन के बाहर शाह लिखा तुम्हें दिख जाएगा उधर पहुँच कर मुझे कॉल करना में ऑटो से उस अड्रेस पर पहुँचा, मुझे वो केशावबौग पार्टी प्लॉट मिल गया, मेने बाहर से ही उन्हें फोन लगाया और आपना हुलिया बताया उन्होने मुझे बाहर ही रुकने को बोला, बाहर बहुत रस था बहुत सी गाड़ियाँ खड़ी हुई थी किसी पेसे वाले की शादी थी कुछ देर बाद एक बेहद खूबसूरत 35 साल की लेडी साड़ी पहने हुए बालो मे फूल लगाए हुए,एक दम सॅज़ी-धजी. गेट से बाहर आई वो आपने कान पर मोबाइल लगये किसी को खोज रही थी तभी मेरे मोबाइल की घंटी बज़ी आब तक वो मेरे पास पहुँच चुकी थी मेरे मोबाइल की घंटी उसे भी सुनाई दे गई मे आपने जेब से मोबाइल निकाल नही पाया की उसने कॉल ऑफ कर्दिया इससे मेरे मोबाइल की घंटी भी बंद हो गई मे भी उन्हें ही देख रहा था फिर उन्होने मेरे पास साइड मे खड़े होकर फिर रेडयल किया फिर मेरा मोबाइल बाज़ने लगा बो मुझे देख कर मुस्कुराने लगी मे भी मुस्कुराया फिर मोबाइल ऑफ करके वो मेरे पास आई और मुझसे पूछा आर यू राज मेने कहाँ यस आइ आम राज हम दोनोने हाथ मिलाया उसने बताया की ये मेरी सहेली की शादी है बस कुछ देर मे प्रोग्राम ख़त्म हो जाएगा तुम आओ मेरे साथ खाना खा लो मेने कहा ठीक है मे मन ही मन हँस रहा था बेगानी शादी मे अब्दुल्ला दीवाना मे अंदर गया और भीड़ मे सामिल हो गया वो स्टेज़ पर चली गई मे खाना खाने लगा पर बो स्टेज़ से लगातार. मुझे देखे जा रही थी मे भी उसे देख रहा था वो 35 साल की लेडी थी उसका जिस्म बहुत ही सेक्सी लग रहा था बिल्कुल प्रियंका चोपरा की तराहा मे खाना खा चुक्का था और एक कुर्सी पर बैठ कर कॉफी पीने लगा तभी मेने देखा की दूल्हा दुल्हन और सब लोग स्टेज़ से उतर कर खाना खाने के लिए जा रहे है इतने मे बो उनलोगों को छोड़ कर मेरे पास आ गई और कॉफी लेकर मेरे पास कुर्सी पर बैठ गई हम भीड़ से अलग बैठे थे हम दोनो कॉफी पीते हुए बातें करने लगे उन्होने पूछा कि आने मे कोई परेसानि तो नही हुई है. मेने कहा की नही, उसने बताया की ये मेरे बॉस की बेटी की शादी है और बो मेरी सहेली भी है मेरे बॉस बहुत बड़े रिच मॅन है मेने कहा की हाँ इंतज़ाम देखने से ही पता चलता है बो बहुत बड़ी जगह थी उसने बताया की ये जो दो .आजू- बाजू महल नुमा कोठी देख रहे है आप मेने कहा हाँ तो बो बोली कि एक कोठी मे लड़की बाले रुके है और एक मे लड़के बाले हम सभी के लिए अलग अलग रूम दिए गये है आब स्टेज़ प्रोग्राम ख़तम होने के बाद फेरे आदि का कार्यक्रम है, जहाँ ये क्रयक्रम होना है उधर ही मेरा रूम है यहाँ बहुत से लड़के लड़कियाँ है किसी को कोई सक नही होगा कि आप किस की तरफ से यहाँ आए हुए है मेरा मतलब है लड़के बालों की तरफ से या लड़की बालो की तरफ से और यहाँ इतनी भीड़ है की किसी को किसी के बारे मे सोचने का समय नही है. मे ध्यान से उसकी बातें सुन रहा था वो ये सब मुझसे बोल तो रही थी पर बोलते बोलते उसकी साँसे फूल रही थी मे उस की इस्थिति समझ रहा था फिर उसने मुझे बताया की मेरे ह्ज्बेंड मोस्ट्ली टूर पे होते हैं और मे यहा अकेली बोर होती हू और मेरी सेक्षुयल लाइफ भी इस बजह से ठीक हैं सेक्स को लेकर मेरा क्या हाल हो रहा होगा तुम समझ सकते हो एस लिए मेने तुमसे कॉंटॅक्ट किया पर ये हमारी पहली और आखरी मुलाकात होगी मे उसकी सब बातें सुनने के बाद बोला की अगर तुम नहीं चाहोगी तो मैं तुमसे नही मिलूँगा आज के बाद कोई मतलब नही रहेगा आप निसचिंत रहें बो मुस्कुराने लगी हम 30 मिनिट तक बातें करते रहे एस बीच दूल्हा दुल्हन उस कोठी की तरफ जाने लगे जहाँ मंडप बना हुआ था और उधर ही इनका रूम था बो बोली उठो. और साथ मे चलो हम भी दूल्हा दुल्हन की भीड़ के साथ सामिल हो गये कोठी अंदर से बहुत सान्दार थी बिल्कुल सीरियल के सेट की तरह हम अंदर पहुँचे तो कुछ भीड़ मे सामिल लोग कुछ इधर उधर हो गये कुछ लड़के लड़कियाँ चेंज करने के लिए आपने आपने रूम मे जाने लगी दूल्हा दुल्हन और 4-5 लड़के लड़कियाँ मंडप के पास बैठ गये प्रिया ने मुझे इशारा किया और हम भी नॉर्मल हो कर रूम की तरफ भीड़ के साथ चले गये प्रिया ने डोर खोला और अंदर हो गु मे कुछ दूरी पर था मोका देख कर मे भी अंदर हो गया बो एक 5 स्टार होटल की तरह का रूम था बड़ा बेड था और टीवी, फोन रखे हुए थे रूम महक भी रहा था उसने एसी ऑन कर दिया बाथ रूम का डरबाजा खुला हुआ था मेने झाँक कर देखा तो बहुत बड़ा और सुंदर बाथरूम था बो हुमने डोर अंदर से बंद कर लिया मे बेड पर बैठ गया और आपने जूते निकाल कर बेड पर दीवार से पीठ टीका कर लेट गया. मेने टीवी ऑन किया और देखने लगा प्रिया बेड के पास खड़ी हुई थी मुझे देखे जा रही थी उसकी साँस लेने के कारण उसके बूब्स उप्पर नीचे हो रहे थे मेने उसकी तरफ हाथ बढ़ाया कुछ देर बाद उसने मेरा हाथ पकड़ा तो मेने उसे बेड पर खीच लिया बो बड़ी अदा से मेरे सिने पर गिर पड़ी हम आधे लेट हुए थे उसका सर मेरे सिने पर था एक हाथ से मे उसे थामे हुए था और एक हाथ से मेने उसके गालों को छुआ उसने आँख बंद कर ली बो दुल्हन की तरह सजी हुई थी साड़ी, गहने पहने हुए थी और परफुमे की मद-होश कर देने बाली उसकी महक से दीवाना हो गया मेने उसके माथे पर किस किया आज मे भी सुहाग रात मनाने के मूड मे था प्रिया एक 35 साल की मॅरीड लेडी थी एसलिए मे ये आछि तरह से जानता था की उसे क्या चाहिए मेरा मतलब है की एक नाइस & फुल सॅटिस्फाइड सेक्स विद लव & केर फिर मेने उसकी बंद आँखूं को चूमा और एक हाथ. उसके बालों मे फिराने लगा बो किसी नयी दुल्हन की तरह सर्मा रही थी उसका एक हाथ मुझे आपने घेरे मे लिए हुए था फिर मे उस के उपर कुछ झुका और मेने आपने होंठ उसके होंठों से लगा दिए बो काँप गई और ज़ोर से मुझे आपनी बाहो मे भर लिया मे उसके हूँठ चूस रहा था बो भी मेरे हूँठ चूस रही थी कुछ देर होंठ चूस्ते हुए बो एत्नि बैचेन हो गई की उसने आपने दोनो हाथो से मेरे दोनो गाल पकड़े और ज़ोर ज़ोर से सर घुमा गुमा कर मेरे होंठ चूसने लगी बेहतसा मेरे हूँठ चूमती रही एक समय तो मे भी झट-पटाने लगा था ..बो एत्नि गरम हो चुकी थी कि भूखी सेरणी हो गई थी एस समय उसके बड़े बड़े बूब्स मेरे सीने पर डब रहे थे. फिर मेने भी आपना एक हाथ उसके सर के पीछे डाल कर उसका सर पकड़ कर पूरे ज़ोर से उसके हूँठ चूसने लगा करीब 20 मिनिट तक हम बस किस करते रहे ये 4 प्ले का पहला पार्ट था फिर कुछ देर बाद हम आलग हुए दोनो ही बुरी तरह हाँफ रहे थे हम दोनो बिस्तर पर आलग आलग लेते हुए थे ..कुछ देर बाद जब हम सामान्य हुए तो मे उसकी तरफ पलटा बो आँख बंद किए हुए लेटी थी मेने उसे गर्दन पर चूमते हुए उसके बूब्स पर चूमने लगा साड़ी का पल्लू उसके सिने पर से अलग करते ही मे हेरान रह गया क्या मस्त बड़े बड़े बूब्स थे यार गोरे गूल मे मचल उठा मेने आपने दोनो हाथ उनके दोनों बूब्स पर रख दिए और सहलाने लगा उसके साँसे तेज़ चलने लगी और बो मेरी तरफ देखने लगी मेने बूब्स सहलाते हुए आपना मूह उसके ब्लोस मे घुसा दिया बो मचल उठी और मेरा सर आपने दोनो हाथो से पकड़ कर बूब्स पर दबा दिया मे आपने हूँठ उसके बूब्स पर फेरे जा रहा था. फिर मेने एक हाथ से उसके बिलोस के बटन खोल दिए बो गुलाबी रंग की रूपा की ब्रा पहने हुए थी क्या सेक्सी ब्रा थी मज़ा आ गया फिर मे कुछ देर ब्रा के उप्पर से ही बूब्स दबाता रहा और आपने होंठ फिरता रहा फिर मे बूब्स से नीचे होते हुए उसके पेट और नेवल पर आया उसकी कमर को खूब चूसा उसकी हालत बहुत खराब हो चुकी थी फिर मे एक झटके से बिल्कुल नीचे उसके पेर के पास पहुँच गया उसके पेर चूमते हुए उसकी साड़ी उप्पर करते हुए जाँघो तक आगया क्या खूबसूरत सेक्सी जांघें थी मे दोनो जाँघो पर आपने हूँठ रगड़ रहा था वो मदहोश हो रही थी आपना सर ज़ोर ज़ोर से आजू बाजू घुमा रही थी आपने होंठ दाँतों से चबा रही थी मेने आपने दोनो हाथ उसकी दोनो जाँघो पर से सरकते हुए उसकी पेंटी को पकड़ा और नीचे खीच दिया मेरी एस हरकत से बो चुहुंक गई और दोनो हाथो से मेरा सर पकड़ कर आपनी. चूत पर दबा दिया बहुत ही सानदार चूत थी बो.बिल्कुल मलाई की तरह ब्रेड की तरह फूली हुए बिल्कुल सॉफ एक भी बॉल नही था ओर महक भी रही थी मेने आपना काम सुरू कर दिया आपने दोनो हाथ से उसके नितंब सहलाते हुए उसकी चूत चाटने लगा वो आपनी कमर ज़ोर ज़ोर से उप्पर उछल्लने लगी ओए सी, सी की आबाज़ निकाल्ले लगी करीब 15 मिनिट तक चूत चाट तेहुये उसने 3 बार आपना पानी छोड़ा उसे बहुत आनद आ रहा था फिर मे अलग हुआ तो वो भी बैठ गई और मेरी शर्त के बटन खोलने लगी मेने पेंट खोलना सुरू किया उसने शर्ट उतारने के बाद मेरे सिने पर बहुत पियार से हाथ फेरा और आपने होंठ मेरे सिने से लगा दिए और ज़ोर ज़ोर से मेरे सिने पर होंठ फिराने लगी. मे पेंट उतार चुक्का था फिर मेने उसका ब्रा आलग किया तो उसके बूब्स बाहर आगये एत्ने बड़े और सुंदर बूब देख कर मे भी बेकाबू हो गया और मेने उसे आपने सीने से चिपका लिया जिससे उसके बूब्स मेरे सीने से दब जाए एस से उसे और मुझे भी आच्छा लगा कुछ देर बाद मेने उसके नेवेल के नीचे साड़ी के आंदार हाथ डाल दिया वो मुझे देखने लगी की मे क्या कर रहा हूँ मे मुस्कुराया और मेने आंदार से उसकी साड़ी का तह किया हुआ पार्ट पकड़ा और हाथ बाहर खीच लिया जिससे एक ही झटके मे सॅडी बिकुल खुल गयइ वो हँसे लगी मेने साद्डी आलग की आब वो पेटिकोट मे थी पेटिकोट मे से ही उसके चुटटर का आकर देखा कर मे पागल हो गया. उसकी गांद बहुत गोल उप्पर उठे हुई और बड़ी थी मुझे साड़ी मे चूतर देखना बहुत पसंद है राह चलती औरतो मे सबसे ज़यादा उनकी गांद देखता हूँ क्यूंकी मेरा मानना है की आगर औरत के चुटटर (गांद) आच्छे आकर मे ना हो तो उस देख कर सेक्स की बिल्कुल भी इक्षा नही होती और आगर कोई साड़ी पहने हुए आच्छे बड़े गोल चूटर दिख जाए तो लंड तभी झटके से खड़ा हो जाता है एसे चुटटर थे प्रिया के जिसे देख कर मेरा लंड और कठोर हो गया मेने उसका पेटिकोट उतार दिया अब बो बिल्कुल नंगी मेरे सामने थी मेने उसकी गांद को खूब पियार किया सहलाया चूमा आब उसने मुझे आपने उप्पर खीच लिया और एक हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया मे आभी भी पेंटी मे था बो उप्पर से ही मेरे लंड को दबा रही थी फिर आचनक उसने मेरी पेंटी नीचे खीच दी मेने पूरी पेंटी बाहर निकाल दी वो बोली प्ल्ज़ आब कब तक तड़फावगे जल्दी आंदार डालो ना प्ल्ज़ मेने भी उसके दोनो पेर आपनी कमर पर रखे और चूत पर आपना लंड रख दिया उसने आँखे बंद कर ली पहले मेने आपना लंड उसकी चूत पर रगड़ा. फिर धीरे से आंदार डाला वो झट -पटा गई आभी मेरा थोड़ा सा ही लंड आंदार गया था पर वो बेकाबू होने लगी आभी उसे दर्द का अहसास नही था क्यूँ की मेने आभी थोड़ा सा लंड चूत के अंदर किया था पर वो एटनी मचल रही थी आचनक उसने आपने दोनो पेर से मुझे जम कर जाकड़ लिया और आपने दोनो हाथ बिस्तर पर टीका कर आपनी कमर मे ज़ोर दार झटका देकर मेरे लंड पर भरपूर बार कर दिया मेरा लंड पूरा चूत मे घुस गया मेरे लंड की चाँदी उप्पार चॅड गई थी मुझे बहुत दर्द हुआ मे चीख पड़ा मेरे साथ वो भी चीख पड़ी क्यूंकी उसे ही बहुत दर्द हो रहा था मेरे उसकी चूत पर लंड टच करते ही बो एटनी उत्तेजित हो गई थी की एसा कर दिया हम कुछ देर रुक गये मेरा लंड उसकी चूत मे था कुछ देर बाद दर्द कम होने पर मे आगे पिछे हुआ आब कुछ अछा लगने लगा था उसे फिर मेने धीरे धीरे आपनी स्पीड बड़ाई उसे भी मज़ा आने लगा बो भी. आपनी गांद उछाल उछाल कर मेरा साथ दे रही थी करीब 45 मिनिट तक मेने केयी आंगल से उसकी चुदाई की एटने समय मे ना जाने वो कितनी बार झाड़ चुकी थी फिर वो बोली की आब बस राज तुम आपनी क्शूट कर दो मुझे सहन नही हो रहा है तुमने मुझे जीते जी स्वर्ग की सेर करा दी मेरी आत्मा ना जाने कब से पियासी थी हाँ मे जब 11थ क्लास मे पड़ती थी तब से लंड की पियासी थी आब 35 साल की एज मे मेने ये पाया है मे तुम्हारी बहुत अहसान मंद हूँ ये कहकर उसने मुझे बहो मे भर लिया मेने आपनी स्पीड बड़ा दी करीव 10 मिनिट और करने के बाद भी मेने क्षूट नही की तो वो बोली की क्षूट क्यूँ नही कर रहे हू राज प्ल्ज़ अब मेरी कमर दर्द. कर रही है मे मुस्कुराया क्यूंकी मे उनको तो सन्तुस्त तो कर चुक्का था पर मे भी सन्तुस्त होना चाहता था मेने कहा ओके आच्छा तुम मेरे उप्पर आओ वो बोली ठीक है पर जल्दी कर देना मेने कहा ठीक है वो मेरे उप्पर आई मेने उसकी चूत मे लंड डाला और उसने आपनी चूत का पूरा भार मेरे लंड पर रख दिया बो कुछ आगे पीछे हुई मुझे आच्छा लगने लगा फिर मेने आचनक उसकी कमर आपने दोनो हाथो से पकड़ कर उसे कुछ उप्पर उठा दिया जिस से अब उसका भार उसके ही दोनो घुटनो पर था. आब मेने आपने दोनो पेर बिस्तर पर टीका कर आपनी गांद उप्पर उठा दी और ज़ोर ज़ोर से उसकी चूत पर आपने लंड से वार करने लगा .मुझे कुछ परेसानि हुई तो मे रुका और आपने सर के नीचे एक तकिया रख लिया और फिर सुरू हो गया मे 100 की स्पीड से उसे चोद रहा था बो भी मथानी की तरह हिल रही थी करीब 5 मिनिट तक लगातार चोदने के बाद मेने उसकी चूत मे सारा पानी छोड़ दिया आब मे सांत पड़ गया बो मेरे उप्पर लेट गई 10 मिनिट तक हम यू ही लेते रहे फिर हम अलग हुए दोनो बाथरूम गये हम ने आपने आप को सॉफ किया हम दोनो ही नंगे थे सरीर पसीने से लत पट हो रहा था तो मेने सॉवॅर खोल दिया हम दोनो उसके नीचे खड़े थे उसका गीला बदन देख कर मे फिर जोस मे आगया हम दोनो एक दूसरे से लिपट गये और हमारे उपर पानी लगातार गिरे. जा रहा था हम 15 मिनिट तक एक दूसरे के सरीर से खेलते रहे फिर मे उसके पीछे आया और उसे आगे की तरफ झुका दिया और आपना लंड लेकर पीछे से उसकी गांद मे डालना चाहा तो उसने मना कर दिया मे भी मान गया फिर मेने आपना लंड उसी तरह उसे और आगे झुका कर उसकी चूत मे घुसा दिया बो झुकी हुई थी और दोनो हाथो से नल पकड़े हुए थी मेने आगे पीछे होना सुरू किया उसे भी मज़ा आने लगा बो भी आपनी गांद आगे पिछे कर रही थी मेने आपनी स्पीड बड़ाई मेरे दोनो हाथ उसके चूतर को जम कर पकड़े हुए थे 15 मिनिट की जबारजस्ट चुदाई के बाद बो बोली की मेरी कमर दर्द कर रही है प्ल्ज़ राज अब क्षूट कर दो मेने आपनी स्पीड बड़ाई और ज़ोर ज़ोर से धक्के मार कर उसकी चूत मे पानी छोड़ दिया पानी हमारे उप्पर लगातार गिरे जा रहा था गिरते पानी मे चुदाई का क्या आनद आता ये बो ही समझ सकता है जिसने एसा किया हो फिर हम दोनो अलग हुए और एक दूसरे को बाहों मे भर कर खूब पियार किया रात के 3 बज रहे थे और हम बाथरूम मे नहा रहे थे. नहा कर हम लोग बाहर आए प्रिया बहुत खुश थी हमने आपने आपने कपड़े पहने और निकलने के लिए तियार हो गये प्रिया बोली थॅंक्स राज तुम ना होते तो जीवन के इस सुख से ना जाने कब तक मे महरूम रहती ये कहकर बो फिर मुझसे लिपट गई बोली तुम्हें जाने देने को मेरा बिल्कुल मन नही कर रहा है राज, मेने उसे चूमा और कहा की अगर फिर मेरी याद आए तो मुझे कॉल कर देना ओ के लेकिन आब ये कोसिस करना की मेरी ज़रूरत ना पड़े तुम्हें आपना ख्याल रखना ठीक है आब हम चलते है वो बोली रूको पहले मे बाहर देखती हूँ कोई है तो नही मेने कहा ठीक है उसने डरबाज़ा खोला और बाहर से लॉक करके चली गई बो 2 मिनिट मे ही बापस आ गई बोली की सब कार्यक्रम हो चुके है आब विदाई हो रही है सब लोग उधर ही है तुम निकल जाओ मे उसके साथ बाहर आगेया. बरामदे मे आने पर मेने देखा की उधर अभी लोग इकठ्ठा थे हम भी भीड़ मे सामिल हो गये और आलग आलग हो गये मे धीरे धीरे बाहर की और बढ़ने लगा प्रिया भी आपनी साहिलियों के साथ शामिल हो गई थी बो मुझे लगातार देखे जा रही थी मेने मूड कर देखा तो प्रिया की आँखूं मे आँसू थे मेने उसे एक हल्की मुस्कान दी और तेज़ी से बाहर निकल गया किसी को कोई शक नही हुआ.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*