मेरी गर्म प्रिय चाची (Meri Garmi Priya Chachi)

jabai mein boobs
Submit Your Story to Us!

हि मी नमे इस परवीन इ अम फ़रोम जैपुर थिस इस मी सेसोनद सतोरी तो इस्स रेअदेरस। थिस सतोरी इस रेअल मी हौसे इन जैपुर अत मनसरोवर सोलोनी। मेन बसस फ़िनल येअर का सतुदेनत हून। बात तवो मोनथस पेहले कि है ।हमरे घर के समने एक जैन फ़मिली रेहते थि जो उनसले थेय वोह मेरे पपा के सलोसे फ़रेनद है उनकि एक 7 साल कि बेति है और उनकि विफ़े परिया।

परिया औनती को मेन चचि कह कर बुलता हून। परिया चचि कि अगे 33 साल कि है वोह म।अ कर रहि है वोह भि हमरे हि सोल्लगे सय। परिया चचि देखने मेन बहुत हि सेक्सी है उनका फ़िगुरे 40-36-40 है वोह हमेशा हि सरी पेहनति है। वोह सरी भि ऐसे पेहनति है कि पीचे से उनकि कमर साफ़ दिखति है उनके बदे बदे बूबस को मेन हमेशा हि देखा करता हून।

वोह जब कपदे सुखने आति है तो अपनि सरी को चूता कर के अपने पेत पर अतका देति है जिस्से कि उनके बूबस बलौसे के अनदेर बदे बदे साफ़ दिखै देते है। वोह जब भि नहा कर आति है तो बलसोनी मेन अपने बाल सुखति है उनके गिले बदन मेन से उनकि चूचि बहुत हि मसत लगति है। मेन किसि भि काम से उनके घर जता हूओन तो मेरे नज़र उनके बूबस पर हि होति है। लेकिन वोह इतना धयन नहिन देति कि मेन उनके बूबस देख रहा हूओन। चचि कि गानद इतनि मसत है कि एक बार तौच कर ने का दिल करता है। एक दिन होलि का दिन था चचि और उनकि बेते निशा ने मुझे अपने घर बुलया और मुझ पर उनकि बेति ने पानि गिरा दिया और मुझे रनग लगने के लिये जिद करने लगि जब मेने मना किया तो चचि ने कहा कि बच्चि का दिल रखने के लिये थोदा लगवा लो। मेने कहा नहिन चचि मेन नहा कर आया हून मेन और रनग लगवौनगा। तब निशा ने कहा मुम्मी आप भैया को पकदो मेन रनग लगा देति हून फिर चचि ने मुझे पीचे से पकद लिया उनके बूबस मेरि पीथ पर लग रहे थेय।

लिफ़े मेन पेहलि बार कोइ औरत मेरे इतना करीब थि मेरि हालत खरब हो रहि थि चचि के बूबस मेरे पीथ से रगद रहे थेय और निशा मेरे सोलोर लगा रहि थि मेरे गानद उनकि चूओत से चिपकि हुइ थि। जब निशा ने सोलौर लगा दिया तब उसने कहा मुम्मी आप भि भैया को सोलौर लगो लो इस बार मेने आना कनि नहिन कि चचि ने मुझे कहा देख जयदा मना करेगा तो गलति से आनख मेन भि सोलौर जा सकता है। मुझे मज़ा आ गया औनती ने मेरे चेहरे पर सोलौर लगया फिर मेरे हाथ पर उस दिन मेने निक्कर पेहनि थि चचि मेरे तनगून मेन भि सोलौर लगने लगे तो मेने मना कर दिया औनती ने जबरदसति सोलौर लगा दिया तब उनहोने कहा कि तेरि शिरत उपेर कर मेने कहा देखू चचि जि आप तो लगा रहि है पर मेन भि लगौनगा तब चचि ने कहा आज तो लगा लेना।

जब मेरि बारि आयि तो चचि ने मना कर दिया और अपना गते बनद कर दिया। मेने बहुत कहा चचि येह बात गलत है आप ने मुझे लगा दिया और मेरि बारि आयि है तो आप मना कर रहि है लेकिन चचि ने दरवजा नहि खोला। 2 घनते बाद चचि के भै और वोह सब होलि केहलने आये तो उनहोने चचि को सोलौर लगया और उनसले को भि सोलौर लगया थोदि देर बाद वोहो चले गये चचि दरवज़ा बनद करना भूल गये और सोलौर से भरा हुअ उनका आनगर धूने लगि। थभि मेन वहन चला गया मुझे देख कर वोह आपने कमरे मेन भगने लगि तभि मेने उनको पीचि से उनका हाथ पकद का खिचि लिया मेरा लुनद उनकि गानद से तकरा गया मेऐन उनको सोलौर लगने लगा चेहरे पर लगते लगते मेरा हात उनके बूबस पर लगा। उनके बूबस इतने सोफ़त थेय कि मेरा लुनद 7 इनच लमबा हो गया इस्स से पेहले मेने कभि किसि के बूबस को तौच नहि किया था उनको सोलौर लगने के बाद मेन आपने घर चला गया। जब मेन नहा रहा तो मेरे खया मेन सिरफ़ चचि हि आ रहि थि मेने बथरूम मे मुत्तह्ह मार कर आपनि पयास शन्नत कि। एक दिन उनसले ने मेरे पपा से कहा कि उनसले के ममा जि के देअथ हो गये है और उनको जैसेलमेर जना है निशा के एक्सम है इसलिये मेन अकेला हि जा रहा हून आप लोग परिया और नेहा का धयन रखना मेन 2 दिन मेन आअ जौनगा। येह बात मेरि मुम्मी ने मुझे बतै कि उनसले 2 दिन के लिये बहर गये है तो तुझे आज रात निशा और परिया जि के घर पर रेहना है मुझे मज़ा आ गया मेने सोचा कि आज चचि को झि भर कर देखोनगा।

मेन खना खा कर उनके घर सोने चला गया उनके घर मेन 2 कमरे है चचि ने मुझ से कहा कि तु हमरे पास हि सो जा मेने कहा थीक है और मेन उनके पास हि सो गया रात को मे जब पनि पीने को उथा तो देखा कि चचि के सारे का पल्लु उनके नीचे गिरा हुअ था उनके बलौसे के 2 बुत्तोन भि खुले हुए थे उनहोने कलि सोलौर कि बरा पेहनि थि उनके बूबस बहुत हि बदे थेय उनका गोरा गोरा पेत भि साफ़ दिख रहा था मेन 10 मिनुतेस तक उनको देखता रहा। फिर अचनक उनकि नीनद खुल गये तब उनहोने मुझे पूचा कि परवीन कया कर रहे हो नीनद नहि आ रहि है कया मेन दर गया और कहा नहि चचि मेन तो पनि पीने को उथा था और मेन वपस जा कर सो गया मुझे पुरि रात नीनद नहि आउये मुझे सारि रात चचि के बरे मेन हि सोच रहा था।

सुभह जब मेन उथा तब तक निश सचूल जा चुकि थि और चचि आपना कम कर रहि थि जब मेन उथा तो चचि ने कहा कि परवीन मेन तेरे लिया तेअ बना देति हून जब चचि तेअ बना कर लयि तब मेन अखबर फद रहा था उस दिन शनिवर था जब रनगीन अखबर आथा था उसमे बोल्लोयवूद कि खबरे आति थि उस अखबर मेन उस दिन मल्लिका शेरवत के सेक्सी फोतो चफि थि मेन वहो देख हि रहा था कि चचि आ गयि और मुझे कहा कि येह तेरि फ़वौरते हेरोइन है कया तब मेने कहा नहिन तो उनहोने कहा कि तुने इसके मुरदेर देखि है कया । तब मेरि हिम्मत बद गयि मेने कहा चचि आप ने देखि है कया तब उनहोने कहा कि हान तेरे उनसले और मेने येह पिसतुरे सद पे देखि है।

मेने कहा चचि जि येह तो बहुत हि गनदि पिसतुरे है इस मेन बहुत हि गनदे गनदे ससीन है। फिर औनती ने कहा कि परवीन तेरे कोइ गिरलफ़रेनद है कया मेने कहा नहि । मेने कहा कि मेरे एक फ़रिएनद कि है और वहो उसके साथ गलत गलत काम करता है। चचि ने कहा गलत काम कया सेक्स करता है कया मेने कहा हान तब उनहोने कहा कि येह कोइ गलत काम थोदि है । मेने कहा चचि मेने आज तक किसि लदकि को तौच भि नहि किया है पर मेरा मन बहुत होता है कि किसि लदकि को किस्स करून। तब मेने चचि को कहा कि चचि आप मुझे बहुत हि अछहि लगति है पलज़ कया मेन आप को सिरफ़ एक किस्स कर दून।
1530307_489327601181708_2067125449_n
पेहले तो चचि ने कहा कि नहि तुम मेरे बेते जैसे हो येह काम गलत है तुम कोइ गिरलफ़रेनद बनओ फिर उसके साथ किस्स करमा। मेने कहा चचि पलज़ सिरफ़ एक बार किस्स करने दिजिये पलज़ किसि को पता नहि चलेगा। पेहले मना करने के बाद चचि ने कहा देख किसि को बतना मत और सिरफ़ एक बार हि किस्स करेगा । मेने कहा थीक है उस समेय चचि ने बलुए सोलौर कि सरी पेहनि थि और सरी इतने तिघत पेहनि थि कि उनके बूबस और भि बदे बदे लग रहे थेय। चचि आपनि आनख बनद कर कर मेरे पास बेथ गये और कहा देख कुच शररत नहि करेगा और सिरफ़ एक किस्स करेगा । मेने उनके हूतूओन पर किस्स करना शूरु किया उनके पुरी हूतूओन को मेने मेरे मुह मे ले लिया और चूसने लगा ।चचि ने कहा बस अब बनद कर दे मैने कहा चचि आज नहि रुख सकता और मेन उनको बेद पर धखा दे दिया मेन उनकि पेत के उप्पेर बेथ गया और उनके गाल पर किस्स करना शुरू कर दिया थोदि देर तो चचि ने मना किया पर एक दम शानत हो गये, मेन उनको लगातर किस्स कर रहा था ।

फिर मेने उनकि सारि हतरि मेरे समने उनके बदे बदे बूबस सिरफ़ बलौसे मेन थेय मेने उनका बलौसे खोलना शुरु किया एक एक कर के मेने सारे हूक खूल दिये अब वोह सिरफ़ बरा और पेत्तिसोअत मेन थि उनकि बरा को खोलने के बाद मेने उनके बूबस को जोर जोर से दबना शुरू कर दिया वहो जतपता रहि थि कयोनकि उनको दरद हो रहा था बाद मेन मेने उनके पेत पर बहुत से किस्स दिये और उनकि चूओचि को अपने मुह मे रख कर चूसने लगा । बाद मेन मेने उनके पेत्तिसोअत का नदा खोल दिया वोह पिसक सोलौर कि पेनती मेन थि मेने उनकि पेनती उतार दि उनकि चूत पर थोदे से बाल थेय। चचि ने मेरा मुह उनके चूत के पास लगा दिया मेन उनकि चूओत को चूसने लगा चचि मचल रहि थि उनकि चूत कि खुशबू भि शनदर थि । थोदि देर चूसने के बाद मेने अपना लुनद चचि कि चूत मेन दलना शुरू किया।

चहि को दरद हो रहा था पर वोह कह रहि थि कि जलदि से दाल दे परवीन मेने चचि कि कमर के नीचे तकिअ लगया और उनहोने आपनि तानगे मेरे खनदे पर रख दि मेन धीरे धीरे उनकि चूत मेन मेरा लुनद दालने लगा कुच हि देर मेन मेरा पुरा लुनद उनकि गोरि चुत मे घूस गया चचि चील्ला उथि आआआआअ00000000000ऊओ पलज़ परवीन थोदा धिरे धिरे करो मेन मर जओइनगि पलज़ धीरे लेकिन मेन जोर जोर से धके मरने लगा उनके अवज़ ;अगता निकल रहि थि उम्मम्मम्मम्मम्मम आआआआऊऊ हुम लोगो ने करीब 1 हौरस सेक्स किया बाद मेने आपना रस उनकि चूत मे हि दाल दिया ।

सेक्स करने के बाद चचि का मुह एक दुम लल हो गया था उनके आनखू मेन से आनसू निकल रहे थेय मेने उनको पयार से किस्स किया और कहा चचि आज तो आपने मुझे नया जीवेन दिया है चचि ने कहा पलज़ किसि से इस बाअत के बरे मे नहि बतना । फिर चचि ने आपने कपदे पेहने और नहने चलि गये । मेन भि आपने घर चला गया और दूसरे दिन उनसले भि आ गये उस दिन के बाद मेने उनके साथ सेक्स करने के लिया उनको कहा पर चचि जि ने मना कर दिया और आज तक मेने उनके साथ सेक्स नहिन किया है।

————————– bhauja.com

1 Comment

  1. Hi My Dear All Sweet ‘n’ Sexy Bhabhi’s, Aunty’s And Sexy Teen’s,

    If You Want Sex Or Bed Partner, Then Don’t Be Shy And Don’t Wait ‘n’ Just Put A Mail To Me For Unbelievable Sexual Pleasure With Full Privacy And 100% Safely.
    I Am Available 24 X 7.
    My mail Id : [email protected],

    Try Only Once And Then Forget Before… Forever.

    Please Mail Me Only Bhubaneswar, Khordha & Katak Female Person, Because I am From Bhubaneswar.

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*