चूत में केले जैसा टेड़ा लण्ड (Chut Me Kele Jaisa Teda Lund)

chut mein kela hindi sex story
Submit Your Story to Us!

bhauja, hindi sex stories, antarvasna, kamukta, xossip, kamasutra kahaniyan

हैलो मेरा नाम श्याम है.. पर मैं अपने निकनेम यंग हेल्पर से अपनी नेट-फ्रेंड हॉट गर्ल्स से चैट करता हूँ।
वो अपनी चुदाई की कहानियाँ मुझे खुल कर मुझे बताती हैं.. फिर मैं उस चुदाई पर एक कहानी लिखता हूँ.. मेरी सारी कहानियाँ सच पर ही आधारित होती हैं। पाठकगण मेरी इस बात को सच मानें या ना मानें.. यह उन पर निर्भर करता है।

मेरी हॉट और हॉर्नी पाठकों से एक अपील है कि मेरी कहानी पढ़ने से पहले लड़के अपना लण्ड पकड़ लें और लड़कियाँ अपनी चूत में ऊँगली डाल लें.. ताकि कहानी पढ़ने में ज़्यादा मज़ा आ सके और जब कहानी अपने गरम मुकाम पर पहुँचेगी तो लण्ड की मुठ मारने में और लड़कियों को चूत में ऊँगली से चुदास शान्त करने में आसान रहेगा।
जिन लड़कियों को डिल्डो.. मूली.. खीरा या लंबे बैंगन से अपनी गरम और टपकती हुई चूत ठंडी करने का शौक हो.. वो भी जिस चीज़ से चूत ठंडी करती हों.. वो अपनी चूत में पहले से ही फिट कर लें..
एक और अपील.. पूरी कहानी पढ़ने तक कितनी बार चूत या लण्ड झड़ा.. जो लोग मुझको या इस कहानी की चुदक्कड़ हीरोइन को बताएंगे.. उन सबको मेरे दवारा लिखा हुआ सत्य चुदाई कथा संग्रह.. ईमेल किया ज़ाएगा।

दोस्तो, यह कहानी मेरी एक नेट फ्रेंड शिवानी की है जिसने मुझे अपनी चुदाई की दास्तान बताई और मैंने उसे शब्दों में पिरोया है।
आप शिवानी मेम की जुबानी इस कथा का आनन्द लीजिए।

प्रिय पाठको, हैलो.. मैं शिवानी.. राँची से हूँ.. मैं एक केमिस्ट्री की क्वालिफाइड टीचर हूँ। मैं 11वीं और 12वीं क्लास के छात्र-छात्राओं को पढ़ाती हूँ.. मैं चुदाई करना और करवाना नहीं पढ़ाती हूँ.. बाकी सब कुछ पढ़ाती हूँ।
मेरी उम्र 32 साल है.. मेरा रंग गोरा.. बदन लंबा.. मेरी फिगर 34-28-36 की है.. मेरी चूचियों की नोकें नुकीली हैं। जब मैं चलती हूँ.. तो मेरे लंबे बाल मेरे उठे हुए चूतड़ों पर एक सांप की तरह लहराते हैं.. उस वक्त मुझे ऐसा लगता है कि एक काला नाग मेरी गरम गाण्ड में घुसना चाहता हो।
मेरी आँखें.. झील सी गहरी.. किसी हिरनी की तरह मदहोश कर देने वाली हैं.. मेरे जिस्म में सेक्स अपील बहुत ज़्यादा है।

मेरा नाम कुछ भी हो.. पर कॉलेज के समय से ही मज़नूं टाइप के छोकरों ने मेरा नाम ‘चुदक्कड़ शिवि’ रखा हुआ था।

आज मैं शादी-शुदा हूँ और मेरा मायका कोलकाता में है। मेरी शादी आज़ से 4 साल पहले हो गई थी और मैं अपने पति के पास रहने के लिए राँची आ गई। मैं एक हॉट.. बांग्ला माल हूँ.. मैं तुम्हें यहाँ बता दूँ कि बंगाली लड़कियाँ मछली खाने की वजह से बहुत सुंदर और सेक्सी हो ज़ाती हैं।
मैं बहुत कामुक प्रवृत्ति की हूँ। मेरी पहली चुदाई कॉलेज वक्त में ही मुझसे 3 साल छोटे स्टूडेंट ने की थी।
पिछले दस सालों में मैं सैकड़ों बार भिन्न-भिन्न किस्म के लण्डों से चुद चुकी हूँ।

मुझे चोदने वालों की लिस्ट लम्बी है। दोस्तों द्वारा चुदाई.. दोस्तों के दोस्तों द्वारा.. अपने से छोटी उम्र 18 साल के छात्रों द्वारा चुदाई… कई किस्म के लण्डों को… जिनके साइज़ 6 से 9 इंच लंबे और 2-3 इंच मोटा थे.. अपने प्यारे छेद में कम से कम 500-600 बार ले चुकी हूँ।

मेरी प्यारी चूत ने एक से एक काले लण्ड.. एकदम गोरे-चिट्टे लण्ड.. सीधे लण्ड और केलेनुमा घुमावदार लण्डों की विभिन्नता अपने अन्दर चखी हुई है।

लेखक की अपील को ठुकरा नहीं सकती थी.. इसलिए मैं अपनी इस दास्तान को पूरी नंगी बैठकर लिख रही हूँ।
मेरी दो ऊँगलियाँ चूत में हैं।

मैं कहानी के अंत में बताऊँगी कि कहानी लिखते हुए मैंने अपनी चूत में कितनी बार ऊँगली से चूत की रगड़ाई की है।

प्रिय पाठकों आप भी शरमाएँ नहीं… सच लिखना कि इस कहानी को पढ़ते हुए कितनी बार अपना लण्ड या चूत को झाड़ा है।
मैं जो कहानी बताने ज़ा रही हूँ.. वो बिल्कुल सच है..

यह मेरे शादी से पहले की घटना है.. जो मेरे साथ तब हुई.. जब मैं राँची में 11वीं और 12वीं क्लास की टीचर थी।

वहाँ स्कूल में कुछ बदमाश किस्म के स्टूडेंट्स का एक ग्रुप था.. जो मुझे किसी न किसी बहाने तंग करता रहता था। जिनमें से एक अमन भी था.. वो एक बहुत अच्छा.. सुंदर और स्मार्ट ब्वॉय था.. पर पढ़ने-लिखने में बिल्कुल निकम्मा था। जब भी मैं उसके सामने आती.. तो उसकी निगाहें हमेशा मेरी नाभि या मम्मों पर ही रहती थीं।
वो मेरी मटकती हुए गाण्ड को भी बहुत कामुक निगाहों से देखता था और धीमे स्वर में गंदे कमेंट्स भी देता था।

एक दिन तो हद ही हो गई.. मैं स्कूल में सीढ़ियों से उतर रही थी.. मैंने एक बहुत ही सुन्दर वायल की साड़ी पहनी हुई थी.. जो कुछ ज्यादा ही फूली हुई थी। तब अमन और उसकी गैंग नीचे खड़ी थी। राज ने शायद नीचे से मेरी टाँगों और पैन्टी के दर्शन कर लिए थे।

मेरी टाँगों पर कुछ ज्यादा बाल हैं.. तो उसने मेरी तरफ देखते हुए कमेंट्स किया कि लड़कों को फ्रेंच दाड़ी और गर्ल्स को एनफ्रेंच (हेयर रिमूविंग क्रीम) बहुत शोभा देती है..

मैं खून का घूँट पीकर रह गई.. नहीं तो मेरा मन था कि उस कुत्ते के बच्चे को अभी स्कूल से सस्पेंड करवा दूँ.. पर यदि मैं इस बात को प्रिन्सिपल तक पहुँचाती.. तो इसमें मेरी भी बदनामी होती.. इसलिए मैं चुप रह गई।

फिर कोई एक महीने बाद हमारे स्कूल का टूर दार्जिलिंग गया.. जिसमें 12 लड़के और 5 लड़कियाँ थीं.. साथ में एक मेल टीचर और मैं अकेली फीमेल टीचर थी।

वहाँ हम एक होटल में रुके। लड़कों और लड़कियों को अलग-अलग कमरों में ठहरा दिया गया और मेल टीचर को एक कमरा और मुझे एक कमरा ठहरने के लिए मिल गया।

पहले दिन हम वहाँ लोकल साइट सीईंग के लिए पहाड़ों पर घूमने गए.. तो वापिसी में बहुत अधिक थक जाने के कारण मेरे पाँवों में बहुत जोर का दर्द और मोच भी आ गई थी। मैं बहुत दर्द वाला सूजा हुआ पाँव लेकर होटल वापिस पहुँची थी।
मेरे पाँव की गरम पानी से सिकाई की गई और वोलिनी क्रीम लगाकर मैं सो गई।

सुबह उठी तो पाँव में दर्द और भी ज्यादा था। मैंने अपने साथ के मेल टीचर और स्टूडेंट्स को कह दिया कि मैं आज़ घूमने नहीं ज़ा पाऊँगी..
सब लोग तैयार होकर चले गए.. मैं कोई 9 बजे नहाने के लिए बाथरूम में गई।
नहाते हुए मुझे महसूस हुआ कि बाथरूम की खिड़की से मुझे कोई देख रहा है। मैंने झाँक कर कई बार देखा तो मैंने वहाँ किसी को नहीं पाते हुए.. महसूस किया कि शायद खिड़की का परदा हवा से उड़ रहा होगा।

मैं बिंदास रगड़ रगड़ कर नहाने लगी.. होटल के बाथरूम में गरम पानी के फव्वारे ने मेरी गरम चूत की आग बुझाने की बजाए और बढ़ा दी थी।

मैं बाथरूम से नहा कर नंग-धड़ंग निकल आई और कमरे में लगे आईने के सामने खड़ी हो गई.. और तौलिए से अपने गीले बाल पोंछने लगी।
मैं अपनी गदराई हुए जवानी.. मोटे-मोटे गोल भरवां.. नुकीले मम्मों और गोल गाण्ड को घूम-घूम कर आईने में देख रही थी.. साथ में ये गाना भी गुनगुना रही थी- सजना है मुझे.. सजना के लिए..

तभी मुझे महसूस हुआ कि मेरे पीछे कोई खड़ा हुआ है.. मैंने पीछे देखा तो मेरे होश उड़ गए।

मेरे पीछे अमन खड़ा था और मैं पूरी नंग-धड़ंग उसके सामने खड़ी थी.. मैंने अपनी हाथ वाली तौलिए से अपने जिस्म को ढकने की बहुत कोशिश की और उसको बहुत ही गुस्से से कहा- तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरे कमरे में आने की.. तुम घूमने नहीं गए क्या?

तो वो बोला- मेम मैं तो आपका बाथरूम इस्तेमाल करना चाहता था.. क्योंकि बाहर वाले बाथरूम में पानी नहीं आ रहा है.. मुझे भी बुखार है.. इसलिए मैं भी घूमने नहीं गया हूँ.. और आपने खुद अपने कमरे का दरवाजा बन्द नहीं किया था.. सिर्फ़ उड़का रखा था…

इसके साथ ही उसने मेरे नंगे सेक्सी जिस्म को कामुकता भरी निगाहों से देखा और आगे बढ़ कर मुझे अपनी बाँहों में जकड़ लिया।
उसने मुझे अपनी बाँहों में लेने के साथ ही एकदम से मेरे मुँह, गरदन और कंधों पर बेतहाशा चूमना शुरू कर दिया।

मैं इस तरह के हमले से कैसे निपटना है सोच ही रही थी कि उसने मुझे पास पड़े हुए बिस्तर पर गिरा दिया और मेरे जिस्म से तौलिए को खींच कर अलग कर दिया।
तो मैंने अपनी नंगे बदन को बेडशीट से ढंकने की कोशिश की.. पर वो मुझसे ज्यादा ताकतवर था.. उसने मेरे जिस्म से बेडशीट भी अलग कर दी…

वो बेतहाशा मेरे सेक्सी जिस्म को चूम रहा था। मैं अपने आप को उससे छुड़ाने की भरसक कोशिश कर रही थी.. और साथ में उसको बहुत गुस्से से डांट भी रही थी- मैं तुम्हें स्कूल से निकलवा दूंगी.. मुझे छोड़ दो.. मैं तुम्हारी टीचर हूँ.. टीचर गुरू समान होता है.. तुम्हें अपने गुरू की इज्जत करनी चाहिए और तुम मेरा रेप करने पर क्यों आमादा हो.. मैं तुम्हारी कंप्लेंट करूँगी..

मतलब मैंने उसे बहुत डांटा-धमकाया पर इस डांट का.. और न ही मेरी अनुनय-विनय का.. उस पर कोई असर नहीं हो रहा था.. बल्कि मेरी हर डांट पर वो और ज्यादा मतवाला होता ज़ा रहा था।

वो बोले ज़ा रहा था- मेम आप मुझे पागल कर देती हो.. मैं आपका दीवाना हूँ… मेम प्लीज़ मुझे माफ़ कर दो.. मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकता.. ये बात सिर्फ़ हम दोनों में ही सीक्रेट रहेगी..

उसके लगातार चूमने और मेरे मम्मों को सहलाने से मुझे चुदास तो उठने लगी थी.. पर क्या एक स्टूडेंट से चुदाई करना ठीक रहेगा.. मैं अभी यही सोच रही थी।

मेरी डांट का और मेरी अनुनय-विनय का उस पर कोई असर नहीं हो रहा था.. बल्कि मेरी हर डांट पर वो और ज्यादा मतवाला होता ज़ा रहा था,वो बोले ज़ा रहा था- मैम आप मुझे पागल कर देती हो.. मैं आपका दीवाना हूँ… मैम प्लीज़ मुझे माफ़ कर दो.. मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकता.. यह बात सिर्फ़ हम दोनों में ही सीक्रेट रहेगी..

उसके लगातार चूमने और मेरे मम्मों को सहलाने से मुझे चुदास तो उठने लगी थी.. पर क्या एक स्टूडेंट से चुदाई करना ठीक रहेगा.. मैं अभी यही सोच रही थी।
मैं तब 3 साल पहले तक अपने कॉलेज के दोस्त से खूब चुदती थी और इसके स्पर्श ने मेरे जिस्म में एक नया करेंट सा जगा दिया था.. मेरे सारे जिस्म में एक नई लहर सी दौड़ने लग गई थी, मैं अब सिर्फ़ दिखावे के लिए उसका विरोध कर रही थी.. अब मेरे अन्दर बैठा हुआ कामदेव भी जाग रहा था और मैं उसके इस कामाक्रमण का मन ही मन स्वागत कर रही थी और चाह रही थी कि वो मुझे और अधिक ताक़त से कुचले.. व मसले..
मुझे थोड़ी देर में ही असीम आनन्द की अनुभूति हो रही थी.. मैंने अपने आँखें बंद कर ली थीं। वो मेरे सम्पूर्ण शरीर को बेतहाशा चूमे ज़ा रहा था..

उसने अपनी दो ऊँगलियों को मेरी गाण्ड के छेद के पास फिराना शुरू कर दिया और उसकी ऊँगलियाँ मेरी चूत के छेद के ऊपर से होती हुए मेरी झांटों को सहलाते हुए ऊपर की ओर ले जा रहा था।

मैं अमन की इस तरह मुझे गरम करने के तरीके से बहुत खुश हो रही थी और चाह रही थी कि वो मुझे और जोर से मसले-कुचले.. मुझे एक फूल की तरह रौंद दे…

अचानक मुझे उसके हाथ फिरना बन्द से लगे.. तो मैंने जरा आँख खोल कर देखा.. वो भी खुद को नंगा कर रहा था और उसका 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा टेड़ा केलानुमा लवड़ा ऊपर छत की तरफ मुँह उठाए हुए था।

उसका भीमकाय केलानुमा लण्ड देखकर मैं हैरान रह गई। मैंने कभी भी नहीं सोचा था कि 18 साल के लड़के का लौड़ा इतना मज़बूत किस्म का भी हो सकता है.. और फिर टेड़ा.. केलानुमा लण्ड तो मेरी कमज़ोरी था। इस प्रकार के लण्ड से चुदने का स्वर्गिक आनन्द जैसा स्वाद सिर्फ़ वो ही बता सकता है.. जिसकी चूत और गाण्ड ऐसे मस्त लौड़े से खूब चुदी हो।
मेरे कॉलेज के ब्वॉय-फ्रेंड का लौड़ा भी ऐसा ही था.. पर ये तो उससे कहीं अधिक लंबा और मोटा लण्ड था…

bhabhi nude sexy

अब मैं अब मन ही मन चाह रही थी कि जल्दी से ये लौड़ा मेरी चूत में चला ज़ाए। मैं उसकी बाँहों में पूरी तरह से समर्पण कर चुकी थी.. मुझे उसका हर स्पर्श अब आनन्द दे रहा था..

वो मेरे पाँव की तरफ गया और अपने मुँह से पहले मेरे दोनों पाँवों को चूमा.. फिर और ऊपर आया और मेरे टखनों को चूमा.. उसने ज्यूँ ही मेरी दोनों.. केले के तने के समान.. सफेद.. गोरी.. मुलायम जाँघों को बहुत ही प्यार से चूमा.. तो मेरे अन्दर एक कामुक सी सिहरन हुई..
वो चूमने में तो मेरे पहले ब्वॉय-फ्रेंड का भी बाप लग रहा था।

अब मैं होश खो चुकी थी.. मैंने उसके सर को बालों से खींच कर.. उसका मुँह मेरे टपकती हुई गरम चूत पर लगा दिया। अब वो सटासट मेरी चूत चूस रहा था..

‘आह्ह.. अह…’ मेरे मुँह से सीत्कारें निकल रही थीं और मैं उसका मुँह और जीभ अपनी चूत के अन्दर अपनी हाथों से दबा रही थी।

तभी मैंने खुद बिस्तर से तकिया उठाया और अपनी गाण्ड के नीचे लगा कर अपने पैरों को फैला लिया। अब मेरी चूत का मुँह अच्छी तरह खुल गया था और मैं उसकी जीभ को अब ठीक अपनी चूत के अन्दर आता-जाता हुआ महसूस कर रही थी।
कमरे में उसकी जीभ की ‘चप..चप..’ की आवाज़ आ रही थी.. मेरे आनन्द का तो तो अब कोई ठिकाना ही न रहा था।
‘आह्ह.. आआह्ह.. मेरे राजा और जोर से चूसो मेरी चूत को.. आआअहह…’

इस 5-7 मिनट की ओरल चुदाई के बाद मैं बहुत जोर से चीख मार कर झड़ गई, हम दोनों हाँफ रहे थे और वहाँ की ठंडक में भी हम दोनों पसीने से सराबोर थे.. अमन मेरे बगल में आकर लेट गया और उसने मुझको अपनी तरफ घुमा लिया।

उसने मेरे दोनों मोटे और नुकीले मम्मों को अपने मुँह में भर लिया और बार-बार अदल-बदल कर मेरे मम्मों को चूस रहा था, उसका 8 इंच लम्बा और 3 का खड़ा लौड़ा मेरी टाँगों के बीच में फंसा हुआ रगड़ मार रहा था।

मैं भी अब बेतहाशा उसको चूम रही थी उसकी जीभ को अपने मुँह में लेकर चूस रही थी और कह रही थी- मेरे राजा.. तुम इतना अच्छा चूसते हो.. मुझे सपने में भी गुमान नहीं था..

इस फोरप्ले को हमने कोई 20-25 मिनट तक खेला.. अब मैं उसके लण्ड को अपने हाथों से सहला रही थी। कुछ ही देर में हम दोनों फिर से पूरी तरह से गरम हो गए थे।
अब अमन उठा.. और उसने मुझे अपनी मजबूत बाँहों में ले लिया और बिस्तर के पास खड़ा करके.. मुझे घोड़ी बना दिया, उसने पहले मेरी गाण्ड और चूत को 2-3 मिनट तक चूसा.. फिर अपने हाथ पर थूक लिया और वो थूक उसने मेरी चूत पर और अपने लण्ड पर लगा लिया।

फिर उसने अपने लण्ड को एक तेज झटका दिया.. उसका केले जैसा औजार मेरी चूत और गाण्ड के बीच के स्थान पर टकराया और फिर लण्ड मुड़ कर ऊपर की तरफ चला गया। उसने फिर से लण्ड को चूत के छेद पर सैट किया और फिर दूसरा धक्का जोर से मारा.. इस बार लण्ड फिर से फिसल कर गाण्ड के आस-पास फिसल कर रुक गया…
तब उसको गुस्सा आ गया.. वो बोला- अब देखता हूँ.. साली कुतिया मैम.. तेरी चूत को इस बार फाड़ दूँगा।

मैं भी अब जल्दी से उसका खम्बे जैसे हथियार को अपनी लपलपाती चूत में लेना चाहती थी.. इसलिए मैंने उसको हाथों में अपनी एक चूची पकड़ा दी और पैरो को थोड़ा और फैला कर.. अपने एक हाथ से उसके गरम हथियार को अपनी टपकती हुई चूत पर सैट किया और अमन को निशाना लगाने के लिए उत्साहित किया- ..अब डाल भोसड़ी के..

वो थोड़ा पीछे हटा और उसने गुस्से में आते हुए तेजी से एक झटका दिया और उसका हलब्बी लण्ड मेरी चूत में सरसराता हुआ आधे से अधिक चला गया..
मैं उसके लवड़े के इस प्रहार से हुए दर्द से बिलबिला उठी..

तभी उसने लण्ड को कोई 3 इंच बाहर खींचा और एक तेज झटके से पूरा लण्ड मेरी चूत को चीरता हुआ अन्दर चला गया.. मैं दर्द से चिल्ला रही थी.. पर वो तो साला मुझे एक कुतिया की तरह चोदे ज़ा रहा था, अब मुझे भी उसके लण्ड का अपनी चूत के अन्दर-बाहर आने-जाने में मज़ा आने लगा था।

वो बोले ज़ा रहा था- तू मैम नहीं.. कुतिया है बहन की लौड़ी.. हरामजादी… तू तो पहले से ही चुदी हुई है.. आह्ह.. मेरी राण्ड मैम… आज़ तू भी याद करेगी की दार्जिलिंग में अमन का लंबा मोटा और सख्त लौड़ा मिला था।

मैं भी मस्ती में बोल रही थी- तेरे जैसे कुत्तों ने ही तो मेरी चूत चोद-चोद कर फाड़ दी है.. आह.. तू तो बस चोद दे मुझे राजा..

उसकी हर गाली मुझे ज्यादा मदहोश किए ज़ा रही थी… मैं भी उसके हर झटके के जबाव में अपनी गाण्ड को पीछे कर देती थी.. ताकि उसका लोहे जैसा गरम हथियार मेरी चूत में ज्यादा से ज्यादा मज़ा दे सके।

मैं बोले ज़ा रही थी- चोद अमन.. चोद अपनी गुरू मैम को.. अपनी बहन की लौड़ी मैम को.. इसस्स तरह चोद.. अपना लण्ड इतने जोर के झटके से पेल कि लण्ड चूत में से जाए और गाण्ड में से बाहर निकल आए.. आह्ह..

वो बोले ज़ा रहा था- तू कुतिया.. मैम कहाँ छुपी हुई थी.. साली छिनाल.. इतना सेक्सी बदन लेकर.. आह्ह.. तू मैम नहीं है.. तू तो मुझे चुदाई करने की मशीन है हरामिन.. मैं जब भी क्लास में तुझे देखता हूँ.. मैं अपनी पढ़ाई भूल जाता हूँ और मुझे यूँ लगता है कि तुझे वहीं पटक कर चोद दूँ.. आह.. साली ले ले.. मेरा पूरा लवड़ा खा.. मादरचोदी.. आह्ह..

उसकी इस धकापेल चुदाई से मैं दो बार झड़ चुकी थी, वो गालियाँ बकता हुआ.. कोई 20 मिनट की चुदाई के बाद बोला- मैं अब झड़ने वाला हूँ.. आअहहुउ..

मेरी चूत की दीवारों से जैसे पानी की धार से बहने लग गई थी और मैं अपने सुख को ‘अईई.. आआह.. अहह..’ के शब्दों से बयान कर रही थी..

‘तो..’ मैंने उसे उकसाया।

अमन फिर बोला- मैं झड़ने वाला हूँ.. मेरी कुतिया मैम क्या… तेरी चूत में ही झड़ ज़ाऊँ.. जल्दी बोल..?

मैं बोली- नहीं.. मेरे मुँह में अपना हथियार डाल दे.. अपने लण्ड की रबड़ी खिला दे मेरे राजा..
तभी मैं चीख मार कर फिर से झड़ गई.. अमन ने अपना खड़ा लौड़ा.. ज़ो मेरी चूत के जूस से पूरा सना और भीगा हुआ था.. तुरंत मेरी चूत से निकाला.. मुझे अपनी तरफ घुमाया और मेरे मुँह में ठूंस दिया।

bhabhi shoot nude photo

उसके लण्ड से कोई 6-7 पिचकारियाँ निकलीं.. जो कि मैं सारा अपने मुँह में लेकर पी गई।
थोड़ी सी रबड़ी.. मेरे मुँह से बाहर आ गई.. तो वो लपक कर अमन ने अपने हाथ से साफ कर ली और चाट गया..

मैं निढाल सी होकर बोले ज़ा रही थी- आह्ह. क्या स्वर्गिक अमृत जैसा स्वाद है तेरी रबड़ी का.. मेरे प्यासे कुत्ते..

फिर अमन मुझे अपने बाँहों में उठा कर बाथरूम ले गया और फिर वहाँ हमने एक-दूसरे के जिस्मों को साफ किया..
ऊपर वाला ही जाने कि न जाने कैसे अब मेरे पाँव में कोई दर्द नहीं बचा था।
इस चुदाई के बाद कोई एक घंटा हम लोगों ने आराम किया और फिर अमन ने मुझे मिशनरी अवस्था में दुबारा चोदा।

तब तक 3 बज़ने वाले थे और हमारे ट्रिप के लोगों के वापिस पहुँचने का वक्त हो गया था.. इसलिए अमन ने मुझे चूमने के बाद अपने कपड़े पहने और अपने कमरे में चला गया।
मैं अब बहुत थक गई थी.. इसलिए मैंने भी गाउन पहना और तुरंत सो गई..

उसके बाद वो ट्रिप 6 दिन तक और चला.. पर अमन को मैं देखकर मुस्करा देती थी.. पर वो नीचे नजरें किए हुए मुझे देखता रहता था।

मैं कोलकाता वापिस आकर उससे कई बार चुदी.. कभी स्कूल लाइब्रेरी की छत पर.. कभी केमिस्ट्री लैब के स्टोर-रूम में… चूंकि मैं केमिस्ट्री टीचर हूँ.. इसलिए स्टोर-रूम की चाभी मेरी पास ही रहती थी।
कभी अमन के एक फ्रेंड के फार्म हाउस पर भी चुदी।

अमन ने अपना वायदा निभाया और किसी को कानों-कान हमारी चुदाई के बारे में नहीं बोला.. ये शायद उसकी मेरे लिए इज्जत या प्यार ही कहा जाएगा..
हाँ.. एक बार स्कूल चौकीदार ने हम दोनों को चुदाई के बाद स्कूल लैब के स्टोर-रूम से निकलते हुए देख लिया था.. बस तो उसने हम दोनों को संदेह की निगाह से देखा था.. पर किसी तरह हमने मामले को पढ़ाई से जोड़ कर सुलटा लिया था।

अमन आगे की पढ़ाई के लिए राउरकेला चला गया। वो अब वहाँ बी.टेक फाइनल इयर में है।
अभी कुछ दिन पहले वो कोलकाता आया था.. तो उसने मुझे फोन किया और मुझे अपने पास बुलाया था और मैं फिर से अभी हाल ही में उससे जबरदस्त तरीके से चुदी हूँ तो मुझे लगा कि आप सभी को अपनी इस दास्तान को लिखूँ..

तो दोस्तो, अब इस कहानी को समाप्त करती हूँ.. मैं इस कहानी लिखते हुए 3 बार झड़ चुकी हूँ.. आप सभी भी मुझको ईमेल करना कि कहानी पढ़ते हुए कितनी बार झड़े..
मैं पाठकों से एक और निवेदन है कि कहानी के ऊपर गंदे से गंदे कमेंट्स लिखिए.. ताकि मैं उनको पढ़कर अपनी अगली चुदाई की और ज्यादा गरम कहानी लिख सकूँ.. इतनी देर तक अपनी चूत में ऊँगली रखने के लिए लड़कियों का.. और अपना लण्ड पकड़े रखने के लिए लड़कों का बहुत धन्यवाद।

9 Comments

  1. అమ్మాయిలు/ స్త్రీలు/పెళ్ళైన ఆడవారు/విధవరాలు/ఎలాంటి వారైనా అందరూ నాతో నిజంగా సెక్స్, లేక సెక్స్ చాట్ యాహూ మీద/కామ్ చాట్ లేక ఫోన్ సెక్స్ చెయ్యొచు. వయస్సు/కులం/గోత్రం పట్టింపులు లేవు . నా లేక మరియు నా మెయిల్ ఐ డి – [email protected].. నన్ను చేరాలంటే నాకు లో మెసేజ్ ఇవ్వండి లేక నాకు కాల్ చెయ్యండి .. 9989100589… వివరాలు ఇవ్వబడతాయి .. ఫోన్ సెక్స్ కావాలన్నా నిరభ్యంతరంగా మాట్లాడండి —ఇది హైదరాబాద్ /ఆo . ప్ర లోని ఆడవారికి మాత్రమే ..వేరే ప్రాంతం వారు/అబ్బాయిలు దయచేసి కాల్ చెయ్యవద్దు ..దయ చేసి ఫోన్ లో మాట్లాడండి … డబ్బు /రీఛార్జి కార్డ్స్ ఆశించే ఆడవారు నాకు కాల్ చెయ్యకండి … నా ముఖ్య ఉద్దేశ్యం సుఖం పొందలేని ఆడవారికి సుఖం అందించడమే .. నిజంగా సుఖం కోరుకునే ఆడవారు కాల్ చెయ్యండి …

    పెళ్లై పిల్లలు కలుగని వారికి కూడా… పిల్లలు పుట్టించే వెసులుబాటు వుంది .. గోప్యంగా మూడోకంటికి తెలీకుండా … మీకు ఇంట్రెస్ట్ వుంటే .. నన్ను కాల్ చేస్తే వివరాలు చెబుతాను .. మీకు పండంటి బాబుని పుట్టిస్తాను ..కాల్ చెయ్యండి .. 9989100589….
    అన్ని విషయాలు గోప్యంగా వుంచబడతాయి … స్వర్గసుఖాలు గోప్యంగా ఆనందించండి… అందరూ సుఖించండి .. మీరు ఇదేదో తప్పు చేస్తున్నామనుకుంటే మనకి వున్నది ఒకే ఒక జీవితం .. అందులోనూ ఇంకా చిన్నది యవ్వనం .. ఇది ఒక శారీరిక అవసరం అని తెలుసుకోండి .. ఈ జీవితం లో ఏ వయసులో పొందాల్సిన సుఖాలని ఆ వయసులో పొందకపోతే వయసు దాటిపోయి మన జీవితం ముగుస్తుంది .. ఈ విషయం గుర్తుంచుకోండి .. భయం భయం అని భయపడితే ఎప్పటికీ సుఖపడలేరు .. సుఖపడేవారు భయపడరు.. మీరు నా దగ్గర అన్ని విషయాలు చెప్పుకోవచ్చు .. ఏదైనా మీ వివరాలు/మీరు ఎక్కడివారు/ఏమి చేస్తారు అన్నీ గోప్యమే .. అందుకే ఉన్న ఈ చిన్న జీవితాన్ని పాడుచేసుకోకుండా సుఖించండి .అనుభవించండి…

    “లైంగిక సంతృప్తి లేని జీవితమూ ఒక జీవితమేనా? “

  2. HI IAM JAGAN FROM GUNTUR,VIJAYAWADA,HYDERABAD AUNTYS & MARRIED & WOMAN TEENS MEEKU PUKU NAKINCHUKOVALANI UNTE NENU PUKULO HONEY POSI PUKU NAKI NAKI DENGUTHANU AUNTYS KI PUKULO GUDDALO ICE CREAM VESI PUKU GUDDA NAKI NAKI DENGUTHANU CALL ME MY NUMBER 9989100589 I help you my mobile phone number is 9989100589

  3. Hi koi anty ya ladki jise sex secret chahiye WO mujhe call ya wapp kar sakte hai mai granty dunga ki unsatisfied lady ko satisfied kar dunga pls contect me 9122661647 ,7563857590

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*